हिंसक हुआ गुर्जर आंदोलन

हिंसक हुआ गुर्जर आंदोलन

रेल मार्ग के बाद हाइवे भी जाम, कई गाड़ियां भी फूंकीं

पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे गुर्जर आंदोलनकारियों ने रविवार को चौथे दिन आगरा-जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग सहित अन्य सड़क मार्ग भी जाम कर दिए। उन्होंने दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पहले से ही जाम कर रखा है। रविवार को आंदोलन उग्र हो गया और उन्होंने हाइवे पर जाम करने के साथ ही तोड़फोड़ की और कई गाड़ियों में आग लगा दी।

आंदोलनकारियों ने चौथे दिन दौसा के राष्ट्रीय राजमार्ग 11 और सवाईमाधोपुर जिले के राजमार्गों पर जाम लगाया। पांच फीसदी आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर पिछले तीन दिन से दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर डुमरिया और पीलूकापुरा की पटरियों पर बैठे हुए हैं।

गुर्जर आंदोलनकारियों ने आगरा-जयपुर राजमार्ग को दौसा जिले के सिंकदरा के पास और सवाईमाधोपुर जिले के सवाईमाधोपुर-श्योपुर स्टेट हाईवे पर खंडार के पास जाम लगा रखा है। पुलिस ने बताया कि दोनों राजमार्गों पर यातायात को परिवर्तित मार्ग से निकाला जा रहा है। कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए वहां अतिरिक्त जाप्ता लगाया गया है।

उसने बताया कि सैंकड़ों आदोंलनकारियों ने रविवार सुबह से सिकंदरा के पास राजमार्ग पर जाम लगा रखा है जबकि सवाईमाधोपुर-श्योपुर मार्ग पर शविवार रात से जाम लगा रखा है।

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के प्रवक्ता हिम्मत सिंह ने कहा, 'सरकार हमारी मांग पचास फीसदी आरक्षण में से कानून सम्मत पांच प्रतिशत आरक्षण को देने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रही है, इसलिए हमने अपना आंदोलन तेज कर दिया है।' उन्होंने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने उनकी मांगें नहीं मानीं तो इसी तरह के आंदोलन राज्य के अन्य भागों में भी शुरू किया जाएगा।

सिंह ने कहा कि भरतपुर के बयाना में सरकार और आंदोलनकारियों के प्रतिनिधियों के बीच हुई वार्ता बिना किसी नतीजे के खत्म हो गई और सरकार की ओर से अभी तक कोई ताजा प्रस्ताव नहीं मिला है।

गुर्जर गत गुरुवार से भरतपुर जिले के दिल्ली-मुंबई रेलमार्ग पर पीलूकापुरा में पटरियों पर बैठे हुए हैं, जिससे रेल यातायात और सड़क यातायात प्रभावित हुआ है। कई ट्रेनों को रद्द किया गया है और कुछ सवारी गाड़ियों को आंशिक रूप से परिवर्तित किया गया है जिससे यात्रियों को भारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है।

India