पाकिस्तान में 6 साल बाद इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी

पाकिस्तान में 6 साल बाद इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी

ज़िम्बाब्वे को पहले टी20 में 5 विकेट से हराया   

लाहौर : सलामी बल्लेबाजों मुख्तार अहमद और अहमद शहजाद के अर्धशतक और दोनों के बीच शतकीय साझेदारी से पाकिस्तान ने पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में आज यहां जिंबाब्वे को पांच विकेट से हरा दिया. इस मैच के साथ छह साल बाद पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी हुई.

अपना दूसरा टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेल रहे मुख्तार (83) और शहजाद (55) के बीच पहले विकेट की 142 रन की साझेदारी से पाकिस्तान ने 173 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए 19.3 ओवर में पांच विकेट पर 173 रन बनाकर जीत दर्ज की.

मुख्तार और शहजाद ने सिर्फ 13.3 ओवर में 142 रन की साझेदारी की जिससे टीम बेहद आसान जीत की ओर से बढ रही थी लेकिन ग्रीम क्रेमर (27 रन पर दो विकेट), ब्रायन विटोरी (24 रन पर एक विकेट) और सीन विलियम्स (33 रन पर एक विकेट) ने 20 रन के भीतर पाकिस्तान के चार विकेट चटकाकर मैच को रोमांचक बना लिया.

पाकिस्तान को अंतिम ओवर में जीत के लिए छह रन चाहिए थे. तेज गेंदबाज तिनाशे पनयंगारा ने दूसरी गेंद पर अनुभवी शोएब मलिक (07) को बोल्ड किया लेकिन कप्तान शाहिद अफरीदी (नाबाद 04) ने अगली गेंद पर चौका जडकर टीम को जीत दिला दी.

मुख्तार ने 45 गेंद की अपनी पारी में 12 चौके और तीन छक्के मारे जबकि शहजाद ने 39 गेंद का सामना करते हुए छह चौके और एक छक्का जडा. इससे पहले कप्तान एल्टन चिगुंबुरा के करियर की सर्वश्रेष्ठ 54 रन की पारी की मदद से जिंबाब्वे ने छह विकेट पर 172 रन बनाए.

चिगुंबुरा ने 35 गेंद की अपनी पारी में आठ चौके और एक छक्का मारा जिससे जिंबाब्वे ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए मजबूत स्कोर खड़ा किया. सलामी बल्लेबाज हैमिल्टन मसाकाद्जा ने भी 43 रन की पारी खेली. पाकिस्तान की ओर से तेज गेंदबाज मोहम्मद समी ने टीम में वापसी करते हुए 36 रन देकर तीन विकेट चटकाए.

यह मैच लगभग 4000 पुलिसकर्मियों की सुरक्षा के बीच खेला गया. तीन मार्च 2009 को लाहौर में श्रीलंका की क्रिकेट टीम की बस पर हुए हमले में आठ लोगों की मौत और मेहमान टीम के सात खिलाडियों के घायल होने के बाद पाकिस्तान में यह पहला अंतरराष्ट्रीय मैच है. इस मैच के लिए खचाखच भरे गद्दाफी स्टेडियम में लगभग 27000 लोग मौजूद थे.