एसटीडी काल के लिए 0 या +91 लगाने से मिला छुटकारा

एसटीडी काल के लिए 0 या +91 लगाने से मिला छुटकारा

नई दिल्ली: फुल मोबाइल पोर्टेबिलिटी (एमएनपी) के रास्ते में आ रही बड़ी बाधा को दूर करते हुए टेलिकॉम ऑपरेटर्स ने अब उपभोक्ताओं को एसटीडी मोबाइल नंबर से पहले 0 या +91 लगाने से छुटकारा दे दिया है। अभी तक अपने घरेलू नेटवर्क से बाहर किसी भी मोबाइल नंबर पर फोन लगाते समय नंबर से पहले 0 या +91 लगाना जरुरी हुआ करता था, लेकिन अब ऐसा नहीं करना होगा। अब केवल 10 अंकों का मोबाइल नंबर डायल करने से ही फोन लग जाएगा। उसके पहले जीरो या +91 लगाने की जरूरत नहीं होगी।

अभी तक मोबाइल से किसी दूसरे सर्किल में नंबर मिलाने के लिए अभी तक एसटीडी कॉल करनी पड़ती थी, जिसके लिए मोबाइल नंबर से पहले जीरो या +91 लगाना होता था लेकिन वन इंडिया मोबाइल के पहले फेज की शुरुआत एसटीडी के साथ जीरो या +91 लगाने की बाध्यता हटाकर कर दी गई है। ऐसे में माना जा रहा है कि कुछ ही महीनों में एक सर्किल से दूसरे सर्किल में मोबाइल पोर्टेबिल्टी और रोमिंग मुफ्त सुविधा शुरू कर दी जाएगी।  

इस सुविधा के बाद अब यह कहा जा सकता है कि देश भर में एमएनवी सेवाएं जल्द ही चालू हो सकती हैं। पहले एमएनपी लाने की डेडलाइन 3 मई थी, लेकिन बाद में टेलिकॉम इंडस्ट्री बॉडी सीओएआई ने इसे दो महीने और बढ़ा दिया था। गौर हो कि फुल एमएनपी आने से देश के किसी भी हिस्से में जाने पर उपभोक्ता को अपना मोबाइल नंबर बदलने की जरूरत नहीं पड़ेगी। फिलहाल यह सुविधा केवल सेम टेलिकॉम सर्किल में ही मिल पा रही है।