चुने हुए उद्योगपतियों की सरकार है यह: राहुल

चुने हुए उद्योगपतियों की सरकार है यह: राहुल

लखनऊ : कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने केंद्र सरकार पर अमेठी के साथ भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को दोहराया कि नरेंद्र मोदी सरकार किसानों और गरीबों की सरकार नहीं है बल्कि चुने हुए उद्योगपतियों की सरकार है।

राहुल ने अपने निर्वाचन क्षेत्र के तीन दिवसीय दौरे के अंतिम दिन नई दिल्ली रवाना होने से पहले लखनऊ हवाई अडडे पर संवाददाताओं से कहा कि अमेठी के साथ सरकार गलत व्यवहार कर रही है। अगर बदला लेना चाहते हैं तो मुझसे लें लेकिन अमेठी के किसानों और गरीब जनता ने इनका कुछ नहीं बिगाड़ा है। उनसे सही व्यवहार होना चाहिए। उन्होंने कहा कि जो मैंने संसद में कहा है कि ये सरकार गरीबों, कमजोरों एवं किसानों की सरकार नहीं है। ये चुने हुए उद्योगतियों की सरकार है। प्रधानमंत्री के आसपास के पांच-छह उद्योगपति हैं। उनके लिए सब काम हो रहा है, (लेकिन) किसान रो रहा है। ओला पड़ा लेकिन किसानों को मुआवजा नहीं मिला। जो किसान खाद लेने गये, उन पर लाठियां चलीं। राहुल ने कहा कि किसान और मजदूर देश को चलाता है लेकिन दु:ख की बात है कि ये सरकार चुने हुए उद्योगपतियों की सरकार बनकर रह गयी है। यह सूट बूट की सरकार है, गरीबों की नहीं।

इससे पहले अमेठी में कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार उनके निर्वाचन क्षेत्र में केन्द्र की योजनाओं को लेकर सहयोग नहीं कर रही है और कई योजनाओं के बजट में कटौती की गयी है। राहुल ने यहां जिला निगरानी एवं सतर्कता समिति की बैठक के बाद संवाददाताओं से कहा कि जन प्रतिनिधियों की शिकायत है कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना और इंदिरा आवास योजना सहित केंद्र सरकार की जितनी भी योजनाएं अमेठी में चल रही हैं, उन पर केन्द्र सरकार सहयोग नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि अमेठी के साथ उपेक्षा का व्यवहार किया जा रहा है। चाहे फूड पार्क हो या अमेठी की कोई और विकास योजना, केन्द्र सरकार इन योजनाओं में सहयोग नहीं कर रही है। इनमें बाधा उत्पन्न कर रही है। ये बात मैं पहले भी कह चुका हूं और आज भी कह रहा हूं। फूड पार्क को लेकर भी यही हुआ।

राहुल की अध्यक्षता में समिति की बैठक दो घंटे से अधिक समय तक चली। राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत पिछले पांच साल में अमेठी में जिन सडकों का निर्माण कार्य कराया गया, उनकी जांच होनी चाहिए। बैठक में तय किया गया कि केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर अमेठी के प्रति उपेक्षा का भाव समाप्त करने को कहा जाएगा। बैठक में मनरेगा, इंदिरा आवास योजना और स्वच्छता मिशन सहित विभिन्न योजनाओं पर विस्तार से चर्चा की गई। राहुल ने कहा कि फूड पार्क अमेठी के विकास का मामला है। हर अमेठी वाला इसके लिए लड़ाई लड़ेगा।a

Lucknow, Uttar Pradesh, India