किसानों को नुकसान का मुआवज़ा दिलाने के लिए रालोद ने किया धरना-प्रदर्शन

किसानों को नुकसान का मुआवज़ा दिलाने के लिए रालोद ने किया धरना-प्रदर्शन

लखनऊ: राष्ट्रीय लोकदल फैजाबाद में पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं द्वारा दैवीय आपदा से फसल बर्बादी से हुये किसानों के नुकसान के मुआवजे की मांग को लेकर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन आयोजित किया गया। धरने का नेतृत्व प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चैहान तथा अध्यक्षता मध्य उ0प्र0 के अध्यक्ष राकेश कुमार ंिसंह मुन्ना ने की। धरने के मुख्य अतिथि राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय प्रवक्ता डाॅ0 मसूद अहमद तथा विशिष्ट अतिथि राष्ट्रीय सचिव शिवकरन सिंह जी थे। धरने में मंाग की गयी कि किसानों को मुआवजा 27000 रूपये प्रति हेक्टेयर के साथ भुगतान किया जाय, सर्वे सैटैलाइट से कराया जाय, मृतक किसान के परिजनों को मुआवजा 15-15 लाख रूपये दिया जाय, सभी कर्जे माफ किये जाये साथ ही विद्युत बिल भी माफ किया जाय। 

धरने का नेतृत्व कर रहे प्रदेश अध्यक्ष मुन्ना सिंह चैहान ने किसानों को सम्बोधित करते हुये प्रदेश एवं केन्द्र दोनों सरकारों पर जमकर हमला बोला और कहा कि सरकारे किसानों के साथ घोर अन्याय कर रही हैं सैफई के लिए प्रदेश सकार ने 800 करोड़ रूपये की व्यवस्था की और पूरे सूबे के लिए सिर्फ 500 करोड रूपये की व्यवस्था की जो कि अपर्याप्त है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से गन्ना, धान, आलू, गेहूं, सरसों आदि फसलों का एक साथ नुकसान हुआ है वह सदी की सबसे बड़ी त्रासदी है। इसके बावजूद दोनो सरकारे किसानों को राहत न देकर फर्ज अदायगी कर रही हैं। सर्वे के नाम पर लेखपाल मनमानी कर रहे और मुआवजे के नाम पर 100-200 के चेक देकर किसानों को उपहास उड़ाया जा रहा है।

धरने को बतौर मुख्य अतिथि सम्बोधित करते हुये राष्ट्रीय प्रवक्ता डाॅ0 मसूद अहमद ने कहा कि मोदी सरकार और प्रदेश सरकार दोनो मिलकर किसानों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर रही जिससे आयेदिन किसान आत्हत्या कर रहे हैं। किसानों के दुख दर्द से सरकारों को कुछ लेना देना नहीं हैं। उन्होंने कहा कि  बैंक से कर्जदार होने के कारण अगली फसल की बुआई में भी किसान असमर्थ हो जायेगा और उसकी हालत और भी नाजुक हो जायेगी। 

धरने को विशिष्टि अतिथि के रूप में राष्ट्रीय सचिव शिवकरन सिंह ने सम्बोधित करते हुये कहा कि किसान रोज तिल तिल मर रहा है परन्तु सरकार उनकी सुध नहीं ले रही हैं। उनकी फसल बर्बाद हो गयी है जिससे उनमें घोर निराशा व्याप्त है। जब तक किसान एकजुट नहीं होंगे तब तक देष व प्रदेष की सरकारे किसानों की अनदेखी करती रहेगी।

धरने की अध्यक्षता कर रहे राष्ट्रीय लोकदल मध्य उ0प्र0 के अध्यक्ष राकेश कुमार सिंह मुन्ना ने कहा कि अत्यधिक ओलावृष्टि के मंजर ने किसानों की खून पसीने से सीची गयी खेतों में खड़ी रबी की फसल को तबाह करके रख दिया है और सरकार सर्वे के आकड़ों में उलझकर किसानों के साथ भेदभाव कर रही है। उन्होंने कहा कि किसानों का कर्ज माफ करके उन्हें बीज खाद उपलब्ध कराकर अगली फसल की बुआई करायी जाय जिससे किसानों की दशा में सुधार लाया जा सके।

Lucknow, Uttar Pradesh, India