पृथ्वी पर गिरने से पहले ही जलकर राख हो गया रूसी अंतरिक्ष यान

पृथ्वी पर गिरने से पहले ही जलकर राख हो गया रूसी अंतरिक्ष यान

केप कानावेरल। बीते सप्ताह अंतरराष्ट्रीय स्पेस स्टेशन के लिए साजो सामान लेकर जा रहा रूसी यान-प्रोग्रेस एम 27 एम कल बेकाबू हो गया था जो आज पृथ्वी की कक्षा में गिरा और जलकर नष्ट हो गया। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी (रॉसकॉस्मास) के वैज्ञानिकों ने यह जानकारी दी है।

रूस का यह मानव रहित यान गत 28 अप्रैल को कजाखस्तान से प्रक्षेपित किया गया था। प्रक्षेपण के कुछ ही समय बाद नियंत्रण कक्ष से इसका संपर्क टूट गया था। वैज्ञानिकों ने इसे निर्धारित पथ पर लाने की हर संभव कोशिश की, लेकिन वह नाकाम रहे। यान धरती से करीब 420 किलोमीटर ऊपर अंतरिक्ष में चक्कर काट रहे अंतरिक्ष स्टेशन में रह रहे छह सदस्यीय वैज्ञानिक दल के लिए खाने पीने की सामग्री, कपड़े, पीने का पानी, ईधन, ऑक्सीजन और ऎसे उपकरण भी ले गया था, जिनका इस्तेमाल स्टेशन में वैज्ञानिक प्रयोगों के लिए किया जाना था।

यान में लादी गयी इन चीजों का कुल वजन करीब तीन टन था। वैज्ञानिकों के अनुसार धरती के वायुमंडल में प्रवेश करते ही यान जलकर खाक हो गया, इसलिए इससे धरती पर किसी तरह के जानमाल के नुकसान नहीं हुआ है। रूसी अंतरिक्ष एजेंसी का कहना है कि यान के जरिए स्पेस स्टेशन को रसद पहुंचाने की यह योजना विफल हो जाने के बावजूद अंतरिक्ष स्टेशन में अभी 19 जून को आपूर्ति की दूसरी खेप भेजे जाने तक सभी आवश्यक सामग्रियां पर्याप्त मात्रा में मौजूद है लिहाजा वहां रह रहे अंतरिक्ष यात्रियों को कोई परेशानी नहीं होगी।