नेपाल भूकम्प पीडि़तों के लिए यूपी सरकार द्वारा लगातार राहत सप्लाई लगातार जारी

नेपाल भूकम्प पीडि़तों के लिए यूपी सरकार द्वारा लगातार राहत सप्लाई लगातार जारी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देशों के क्रम में नेपाल के भूकम्प पीडि़तों को राज्य सरकार द्वारा लगातार राहत पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। भूकम्प पीडि़तों की जरूरतों के मुताबिक टेण्ट, गद्दे, तिरपाल, कम्बल, पानी शुद्धिकरण की दवाइयां, स्वच्छता किट, बर्तन आदि को राहत सामग्री के रूप में वरीयता देते हुए भेजा जा रहा है। अनेक जनपदों से राहत सामग्री एकत्रित होकर गोरखपुर सोनौली रूट से नेपाल पहुंच रही है। 

यह जानकारी देते हुए राज्य सरकार के प्रवक्ता ने बताया कि नेपाल में आए भूकम्प के मद्देनजर राहत सामग्री के रूप में अब तक सोनौली इण्डो-नेपाल बार्डर होते हुए कुल 686 ट्रक राहत सामग्री भेजी गयी है, जिसमें 311 ट्रक में खाद्य सामग्री (चावल, दाल, आटा, आलू, प्याज, नमक इत्यादि) सहित 167 ट्रक बिस्किट एवं अन्य ड्राईफूड, 87 ट्रक मिनरल वाटर, 12 ट्रक मैगी/नूडल्स इत्यादि, 18 ट्रक दवाइयां/क्लीनिकल सामग्री, 04 ट्रक गद्दे, 02 ट्रक कपड़े एवं 81 ट्रक कम्बल/तिरपाल/टेण्ट तथा 02 ट्रक बर्तन तथा 02 ट्रक में ट्रांसफार्मर शामिल हैं। इसके साथ ही, 46,203 कम्बल, 37,554 तिरपाल/प्लास्टिक शीट्स, 3,583 तौलिया, 3,026 चटाई, 2,931 टार्च, 1,316 सोलर लालटेन तथा 10 कुन्तल रस्सी भी भेजी गयी है।

भूकम्प पीडि़तों की आर्थिक सहायता के इच्छुक व्यक्ति ‘मुख्यमंत्री पीडि़त सहायता कोष, उत्तर प्रदेश, लखनऊ के नाम चेक अथवा बैंक ड्राफ्ट जो लखनऊ में देय हो, मुख्यमंत्री कार्यालय लेखा अनुभाग-2 तृतीय तल, एनेक्सी भवन, लखनऊ भेज सकते हंै। आर्थिक सहायता सेंट्रल बैंक, शाखा-कैंट, लखनऊ के खाता सं0 1378820696 में सीधे भी हस्तांतरित की जा सकती है।

प्रवक्ता ने कहा कि संस्थाओं तथा व्यक्तियों द्वारा जो सामग्री वाहन के साथ जा रही हैं उसके साथ सामान की एक विस्तृत स्पष्ट लिस्ट तथा जिस संस्था के माध्यम से सामान डोनेट किया गया है उसके द्वारा निर्गत किया गया प्राधिकार पत्र अनिवार्य रूप से 03 प्रतियों में उपलब्ध होना चाहिए।

राज्य सरकार से भूकम्प पीडि़तों के सहायतार्थ अनेक निजी एवं स्वयंसेवी संस्थाओं तथा सामान्य नागरिकों ने राशन, खाद्य सामग्री, कपड़े, दवाइयां, अन्य आवश्यक वस्तुएं एवं श्रमदान करने हेतु सम्पर्क किया है, जिसे नेपाल सरकार से समन्वय स्थापित कर हस्तान्तरित कराया जा रहा है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India