भैया मैं सूट की नहीं आलू की बात कर रहा हूं

भैया मैं सूट की नहीं आलू की बात कर रहा हूं

लोकसभा में सत्ता पक्ष के शोर शराबे पर राहुल ने चुटकी 

नई दिल्ली। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरूवार को लोकसभा में केन्द्र सरकार पर अपने संसदीय क्षेेत्र अमेठी में बन रहे फूड पार्क को बंद करने का आरोप लगया। उन्होंने सरकार से बदले नहीं बल्कि बदलाव की भावना से काम करने को कहा। राहुल ने लोकसभा में शून्यकाल में यह मामला उठाया और कहा कि इस फूड पार्क के बनने से क्षेत्र के दस जिलों के लाखों किसानों के जीवन में बड़ा बदलाव आएगा।

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को याद दिलाया कि उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान वादा किया था कि वह "बदले नहीं बदलाव की राजनीति" पर विश्वास करते हैं। इसलिए उन्हें उम्मीद है कि मोदी इस फूड पार्क को फिर शुरू कराएंगे। गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने उन्हें आश्वासन देते हुए कहा कि वह भी किसान की समस्या को जानते हैं। इसलिए वह इस मामले को व्यक्तिगतरूप से देखेंगे और इसकी सूचना गांधी को स्वयं देंगे। इस पार्क के लिए 2010 में मंजूरी दी गई थी लेकिन उनको जानकारी मिली है कि शायद इसका निर्माण कर रही कंपनी ने इस पार्क पर काम करना बंद कर दिया है।

उन्होंने चुटकी ली कि गांधी किसानों से बात करके जिस "जादू" की बात कर रहे हैं उसको भारतीय जनता पार्टी नही बल्कि कांग्रेस के नेतृत्व वाली सरकार ने ही इजाद  किया था। इससे पहले गांधी ने कहा था कि उत्तर प्रदेश का दौरा करते हुए एक किसान ने उनसे सवाल किया था कि वह आलू उगाते हैं और उसे दो रूपए प्रति किलो बेचते हैं लेकिन जब उनके बच्चे आलू चिप्स लेने जाते हैं तो चिप्स दस रूपए पैकेट की दर से मिलता है। उस किसान ने "मुझसे पूछा यह क्या जादू है।"

गांधी की इस चुटकी पर सत्ता पक्ष के सदस्य शोर शराबा करने लगे तो कांग्रेस उपाध्यक्ष ने फिर चुटकी ली "भैया मैं सूट बात नहीं कर रहा हूं आलू की बात कर रहा हूं।" उन्होंने उम्मीद जताई कि सरकार अमेठी के इस फूडपार्क का निर्माण बंद नहीं करे।