पीड़ितों को सलमान की सजा से नहीं, मुआवज़े से मतलब है

पीड़ितों को सलमान की सजा से नहीं, मुआवज़े से मतलब है

मुंबई। 2002 हिट एंड रन मामले में अभिनेता सलमान को 5 साल की सजा सुनाई गई। सलमान को भले ही 5 साल की सजा सुनाई गई हो लेकिन लगता है पीडितों के लिए सजा की बजाय मुआवजा ज्यादा मायना रखता है। हादसे में अपना एक पैर गंवाने वाले अबदुल्ला रूफ शेख ने कहा, पिछले 13 सालों में कोई मुझसे मिलने नहीं आया। मुझे कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है जिसके चलते मैं अपने फैमिली को छोटे-मोटे काम करने के लिए मजबूर कर रहा हूं।

हालांकि, सलमान के लिए मेरी कोई हार्ड फिलिंग्स नहीं है। मैंने फिर भी उनकी कई फिल्में देखी है। शेख ने कहा, दोष साबित होने से ज्यादा मायना मुआवजा रखता है। यदि सलमान को सजा मिलती है तो मुझे कोई फायदा नहीं होगा। ना तो मेरा पैर ठीक हो जाएगा और न हीं मेरी समस्याएं दूर होगी। इसके अलावा यदि वह हमें मुआवजा दे दे तो हमें कोई समस्या नहीं होगी।

वहीं हादसे के शिकार शख्स की पत्नी ने कहा, हमे बताया गया था कि मुआवजे के रूप में हमें 10 लाख रूपए मिलेंगे लेकिन हम उस राशि का क्या करेंगे। हमारे लिए यह अच्छा होता कि उसके बेटे को नौकरी मिल जाती।