गोल्डी आहूजा मैट्रिक पास में इस बार आकाश धबाड़े का धमाल

गोल्डी आहूजा मैट्रिक पास में इस बार आकाश धबाड़े का धमाल

डिज्नी के शो गोल्डी आहूजा मैट्रिक पास में इस सप्ताह आकाश धबाड़े एक महत्वपूर्ण किरदार में होंगे। थ्री इडियटस, फरारी की सवारी और बास फिल्म में अपने अभिनय से दिल जीत चुके आकाश गोल्डी आहूजा मैट्रिक पास में पड़ोसी पुरी की भूमिका निभाते नजर आयेंगे। गोल्डी आहूजा मैट्रिक पास के इस एपिसोड को प्रसारण तीन मई को डिज्नी चैनल पर होगा। 

गोल्डी आहूजा मैट्रिक पास में सारी उथल-पुथल, खलबली और षड़यंत्रो की भरमार है। यह लोकप्रिय सिरीज मुख्य नायक गोल्डी आहूजा की जिंदगी पर आधारित है। 40 वर्षीय आहूजा हाई स्कूल ड्राॅपआउट है और उसकी 10वीं पास करने की इच्छा है। गोल्डी उसी स्कूल में अपना दाखिला करवाता है जहां उसका बेटा उसका सहपाठी है और उसकी पत्नी कक्षाध्यापिका है। गोल्डी अनाड़ी, हास्यास्पद मगर बड़े दिल वाला है। 

गोल्डी को उस समय ज़बर्दस्त सदमा लगता है जब उसे पता चलता है कि गांगुली की जगह आयास्थानापन्न (सब्स्ट्यिूट) अध्यापक उसकी पत्नी माया का पुराना सहपाठी है। अपने स्कूल के दिनों में, पुरी हमेशा माया की दीवाना था और उसके स्कूल में एक स्थानापन्न अध्यापक के रूप में आने के बाद उसे लगता है कि वह आसानी से उसके करीब जा पायेगा। इसे संयोग कहें या फिर कुछ और, गांगुली के मेडीटेशन कैम्प में जाने पर उसे एकदम परफेक्ट अवसर मिल जाता है। माया और पुरी के मेल-जोल को देखकर गोल्डी में ईष्र्या की भावना पनपती है। अब उसका एकमात्र उद्देश्य गांगुली को वापस लाना और पुरी की स्कूल से छुट्टी कराना है।

लेकिन यह गोल्डी का दुर्भाग्य ही होगा कि पुरी अपने पढ़ाने की कला से बच्चों में काफी लोकप्रिय हो जाता है। हर कोई उसकी तारीफ करता है। माया भी पुरी के प्रदर्शन से काफी प्रभावित है। वह खुद भी काफी विद्वान है और उसके नाम पर तीन किताबें भी प्रकाशित हो चुकी हैं। गोल्डी उसे स्कूल से निकालने के लिए कई प्रयास करता है और इसके लिए वह कई षड़यंत्र भी रचता है। लेकिन उसके कई प्रयास नाकाम होने के बाद, माया को गोल्डी के लिए बुरा महसूस होता है। इससे गोल्डी को काफी राहत मिलती है। वह अपनी ईष्र्या को भूल जाता है और अपनी मस्ती भरी जिंदगी में वापस लौट आता है। लेकिन उसकी यह खुशी ज्यादा देर तक बरकरार नहीं रहती क्योंकि अब पुरी उसका नया पड़ोसी बनकर आ जाता है!