नेपाल में चारों ओर तबाही के मंज़र

नेपाल में चारों ओर तबाही के मंज़र

80 लाख लोग भूकंप से प्रभावित, 14 लाख लोगों को खाद्य सहायता की ज़रूरत

नई दिल्ली: संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि नेपाल में भूकंप से 80 लाख लोग प्रभावित हुए हैं जबकि 14 लाख लोगों को खाद्य सहायता की ज़रूरत है। नेपाल में अंतरराष्ट्रीय मदद पहुंच रही है लेकिन अब भी वहां चिकित्सा उपकरणों, खाद्य सामग्री और शवों को उठाने के लिए बॉडी बैग्स की ज़रूरत है। 

इस बीच नेपाल सरकार ने मंगलवार को बताया कि शनिवार को आए इस भूकंप में मरने वालों की संख्या 4,310 हो गई है जबकि आठ हज़ार लोग घायल हैं। भूकंप से भारत में भी 76 लोग मारे गए हैं। 

नेपाल के बारे में संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है, "39 ज़िलों में 80 लाख लोग भूकंप से प्रभावित हुए हैं जबकि 11 ज़िलों के बीस लाख लोग सबसे ज़्यादा प्रभावित हैं

। " नेपाल में अधिकारियों का कहना है कि भूकंप के बाद लगभग समूची सेना खोज और बचाव कार्यों में जुटी है।  नेपाल ने अधिक से अधिक विदेशी मदद की अपील की ह

चीन, भारत, ब्रिटेन और अमरीका उन देशों में शामिल हैं जो नेपाल को मदद भेज रहे हैं।  नेपाल का कहना है कि उसे कंबल से लेकर हेलीकॉप्टर और डॉक्टर से लेकर ड्राइवरों तक सब की जरूरत है। 

इस बीच, लगभग 200 पवर्तारोही माउंट एवरेस्ट पर फंसे हैं जिन्हें निकालने का प्रयास हो रहा है।  नेपाल की पर्यटन एजेंसी के प्रमुख तुलसी गौतम ने बताया कि सोमवार को 60 पर्वतारोहियों को हेलीकॉप्टरों के जरिए सुरक्षित स्थानों पर लाया गया। नेपाल की राजधानी काठमांडू तंबुओं के शहर में तब्दील हो गया है।