राहत राशि निष्पक्षता से बांटी जाये

राहत राशि निष्पक्षता से बांटी जाये

जिलाधिकारी स्वयं मौके पर जाकर किसानोें का जानें हाल, शिवपाल ने वीडियो काॅन्फ्रेसिंग से आपदा प्रभावित किसानों की ली जानकारी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण, सिंचाई, राजस्व एवं सहकारिता मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने आज अपने एक महीने के वेतन को दैवीय आपदा निधि मे देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के सभी मंत्री एवं समाजवादी पार्टी के विधायक भी शीघ्र ही इस सम्बन्ध में फैसला लेंगे। श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ओलावृष्टि, अतिवृष्टि एवं वर्षा से प्रभावित किसानों को हर सम्भव मदद देने के प्रति संवेदनशील है तथा पूरी गम्भीरता  से किसानों को मदद देने के लिए लगातार प्रयासरत है। श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये  है कि सभी लोग प्रभावित किसानों से मिलें तथा निष्पक्षता एवं ईमानदारी के साथ उनकी समस्याओं को सुनें और राहत राशि को पारदर्शिता के साथ वितरित करायें।

राजस्व मंत्री शिवपाल सिंह यादव आज योजना भवन लखनऊ, मे देैवीय आपदा से प्रभावित जिलों के जिला अधिकारी एवं मंडलायुक्तों से वीडियों कांफ्रेंसिंग से बात करके किसानों को शासन द्वारा निर्गत की गयी धनराशि के वितरण के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त कर रहे थे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि एक टीम गठित करके जिसमे कृषि, बीमा, बैक तथा राजस्व के अधिकारी हों मौके पर जाकर निष्पक्ष तरीके से सर्वे करें तथा उसकी रिपोर्ट शासन को भेजें ताकि आावश्यकतानुसार उस जिले को राहत राशि उपलब्ध करायी जा सके। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देेश दिये कि वे स्वयं पीडि़त किसानों से जाकर मिलें एवं संवेदनशीलता के साथ उनकी मदद करें।

राजस्व मंत्री नें अधिकारियों को निर्देश दिये कि दैवीय आपदा से फसल नष्ट हो जाने के कारण जानवरों के भूसा एवं अन्य चारे की भी समस्या उत्पन्न होगी इस लिए समय रहते उसका भी आकलन कर लिया जाये ताकि भारत सरकार को इसके सम्बन्ध में भी जानकारी उपलब्ध करायी जा सके। उन्होंने कहा कि इस समस्या से निपटने के लिए एक कार्ययोजना अभी से बना लिया जाये। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि अभी से किसानों को हरे चारे के उत्पादन के लिए  बीज, खाद, यूरिया की उपलब्धता सुनिश्चित करा दी जाये जिससे कि जानवरों को भूखा न रहना पडे़। श्री यादव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि जो किसान ऋण लेना चाहे उन्हें कहीं से भी किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पडे़। उन्हांेने अधिकारियों को निर्देश दिये कि सभी लोग निष्पक्षता, ईमानदारी एवं पारदर्शिता के साथ तेजी से किसानों को जो भी आवश्यकता हो उसको उपलब्ध करानें मे सहयोग प्रदान करके सरकार का सहयोग करें। श्री यादव ने  कहा कि अब जो भी अधिकारी लापरवाही दिखायेगा उसके विरूद्ध कडी़ से कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि किसानों के सम्बन्ध में उदासीनता दिखानें वाले अधिकारी को किसी भी कीमत पर बक्सा नहीं जायेगा।

राजस्व मंत्री श्री  शिवपाल सिंह यादव नें वीडियों काॅन्फ्रेसिंग से जिलाधिकारी एवं मडलायुक्तों से चकबन्दी एंव लम्बित वादों के सम्बन्ध में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने निर्देश दिये कि जहां भी चकबन्दी की प्रक्रिया लम्बित है तथा सम्र्बिन्धत जो भी कार्य हैं बहुत तेजी के साथ निर्धारित समय में  पूर्ण कर लिये जायें।

श्री यादव ने मंडलायुक्तों को निर्देश दिये कि प्रत्येक दिन एक निश्चित समय तक कार्यालय मे बैठकर मुकदमों को सुनें तथा जितनी जल्दी हो सके उसका फैसला मौके पर ही सुना दें ताकि किसानों का समय के साथ ही पैसे की भी बचत हो।  श्री यादव ने अधिकारियो को निर्देश दिये कि 10 या 20 साल से लम्बित वादों को निपटानेें के लिए किसानों को लगातार तारीख देकर बुलाया जाये एंव अतिशीघ्र उसका समाधान किया जाये। उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी गाॅवों मे कैम्प लगााकर काश्तकारों की समस्याओं को सुनें तथा मौके पर ही उसका फैसला सुनायें। उन्होंने कहा कि जहाॅ भी व्यवधान उत्पन्न किया जाये वहाॅ पर आवश्यकतानुसार पुलिस बल का भी सहारा लें। उन्होंने कहा कि जो भी बाधा डाले उससे सख्ती से निपटें। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India