सोनभद्र में आंदोलनकारियों पर पुलिस फायरिंग की सीपीआई(एमएल) ने की निंदा

सोनभद्र में आंदोलनकारियों पर पुलिस फायरिंग की सीपीआई(एमएल) ने की निंदा

लखनऊ। भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) ने सोनभद्र जिले में कनहर नदी बांध परियोजना का विरोध कर रहे आंदोलनकारियों पर पुलिस फायरिंग की, जिसमें एक किसान की मौत और कइयों के घायल होने की खबर है, कड़ी निंदा की है। पार्टी ने अपना एक जांच दल घटनास्थल पर भेजने का फैसला किया है।

आज जारी एक बयान में भाकपा (माले) के राज्य सचिव रामजी राय ने कहा कि प्रथम दृश्टया फायरिंग की घटना के लिए प्रदेश की सपा सरकार जिम्मेवार है, क्योंकि बांध के डूब क्षेत्र से प्रभावित होने वाले किसान लंबे समय से अपनी मांगों के लिए शांतिपूर्ण धरना चला रहे थे। लेकिन प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन ने किसानों की समस्या पर ध्यान देने के बजाय दमन का रास्ता अपनाया। उन्होंने कहा कि बिना समुचित पुनर्वास की व्यवस्था किये प्रभावित किसान परिवारों को जबरिया विस्थापित करना अलोकतांत्रिक और क्रूर कार्रवाई है। उन्होंने फायरिंग के लिए दोषी अधिकारियों व पुलिसकर्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाईकी मांग की।

Lucknow, Uttar Pradesh, India