मेट्रो प्रोजेक्ट में नहीं आने दी जाएगी कोई बाधा: मुख्यमंत्री

मेट्रो प्रोजेक्ट में नहीं आने दी जाएगी कोई बाधा: मुख्यमंत्री

लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना पर पियर कैप रखने का काम शुरू 

इंस्टेंटखबर ब्यूरो 

लखनऊ:उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज यहां लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के प्राथमिक खण्ड पर पियर कैप रखने के कार्य का शुभारम्भ किया। उन्होंने ट्रान्सपोर्ट नगर के प्रस्तावित मेट्रो स्टेशन के पास बटन दबाकर मेट्रो रेल के लिए बनाये गये पिलर पर पहला पियर कैप रखा। मुख्यमंत्री ने मेट्रो के काम में लगी टीम को आश्वस्त किया कि मेट्रो रेल के काम में किसी भी तरह की बाधा नहीं आने दी जाएगी। 

इसके साथ ही लखनऊ में मेट्रो रेल अपना वास्तविक रूप प्राप्त करने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ गयी है। पियर कैप के ऊपर गर्डर रखे जाएंगे, जिनके ऊपर मेट्रो रेल की पटरियां बिछायी जाएंगी। लखनऊ में मेट्रो रेल के बन जाने से लखनऊवासियों को एक सुलभ, सस्ती एवं विश्वसनीय परिवहन व्यवस्था मिल जाएगी। इससे लखनऊ की सड़कों से यातायात का दबाव भी कम होगा। मेट्रो रेल का एक पियर कैप 9.3 मीटर लम्बा, 2.8 मीटर चैड़ा एवं 2 मीटर ऊंचा है। प्रत्येक पियर कैप लगभग 71 टन का है, जिन्हें अत्याधुनिक मशीनों द्वारा पिलर्स पर रखा जाता है। 

ज्ञातव्य है कि लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के नार्थ-साउथ काॅरिडोर के तहत अमौसी हवाई अड्डे के निकट ट्रान्सपोर्ट नगर से चारबाग तक प्राथमिक खण्ड पर मेट्रो रेल के निर्माण का काम तेजी से चल रहा है। मेट्रो रेल का यह प्राथमिक खण्ड एलिवेटिड और लगभग 

8 किलोमीटर लम्बा है। इस एलिवेटिड खण्ड पर ट्रान्सपोर्ट नगर, कृष्णानगर, सिंगार नगर, आलमबाग, आलमबाग बस अड्डा, मवैया, दुर्गापुरी और चारबाग स्टेशन बनाए जाएंगे। इस खण्ड पर लगभग 2 हजार करोड़ रुपए की लागत आएगी और इसे दिसम्बर, 2016 तक पूरा कर लिया जाएगा। 

लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना की कुल लम्बाई 33.976 किलोमीटर है। इस पर कुल 34 स्टेशन बनाए जाएंगे। जिसमें से 24 स्टेशन एलिवेटिड तथा 10 अण्डर ग्राउण्ड होंगे। मेट्रो रेल की कुल लम्बाई का 

9.990 किलोमीटर अण्डर ग्राउण्ड तथा 23.986 किलोमीटर एलिवेटिड होगा। लखनऊ मेट्रो रेल परियोजना के तहत दो काॅरिडोर बनाए जाने हैं। चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट से मुंशी पुलिया तक नार्थ-साउथ काॅरिडोर 

22.878 किलोमीटर लम्बाई का होगा। इस पर कुल 22 स्टेशन बनाए जाएंगे। इसमें से 19.438 किलोमीटर एलिवेटिड तथा 3.440 किलोमीटर अण्डर ग्राउण्ड होगा। चारबाग से बसन्तकुंज तक का ईस्ट-वेस्ट काॅरिडोर 

11.098 किलोमीटर लम्बाई का होगा। जिसमें से 4.548 किलोमीटर एलिवेटिड तथा 6.550 किलोमीटर अण्डर ग्राउण्ड होगा। इस काॅरिडोर पर कुल 12 स्टेशन होंगे। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India