इतिहास रचने से बस एक क़दम दूर सानिया मिर्जा

इतिहास रचने से बस एक क़दम दूर सानिया मिर्जा

नई दिल्ली: सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस की जोड़ी चार्लेस्टन, अमरीका में चल रही फेमली सर्किल कप के फ़ाइनल में पहुंच गई हैं। इस टूर्नामेंट में अगर सानिया और हिंगिस की जोड़ी फ़ाइनल मुक़ाबला जीत लेती है, तो वीमेंस डबल्स में सानिया मिर्जा नंबर वन खिलाड़ी बन जाएंगी।

फ़ाइनल मुक़ाबला भारतीय समयानुसार रविवार रात में होगा, यानि सानिया वर्ल्ड नंबर एक खिलाड़ी बनती हैं या नहीं इसका फ़ैसला आज हो जाएगा।

इससे पहले फेमली सर्किल कप के सेमीफ़ाइनल में सानिया और हिंगिस की जोड़ी ने तीन सेट में चले मुकाबले में एला कुर्देयावत्सेवा और अनास्तासिया पेवलियुचेनकोवा को 6-4, 1-6, 10-7 से हराया। इस मुकाबले में जब सानिया और हिंगिस की जोड़ी पहला सेट 6-4 से जीत चुकी थी और दूसरे सेट में 0-2 से पिछड़ रही थी, तभी बारिश शुरू हो गई। बारिश के बाद जब खेल शुरू हुआ तो सानिया और हिंगिस की जोड़ी दूसरा सेट हार गईं, लेकिन तीसरे सेट में दोनों ने कमाल दिखाते हुए मैच जीत लिया।

फ़ाइनल में सानिया और हिंगिस की टक्कर केसी डेलाक्यूआ और डारिजा जुराक की जोड़ी से होगी। अगर सानिया और हिंगिस की जोड़ी यह मुक़ाबला जीत लेती है तो सानिया वीमेंस डबल्स में नंबर एक पायदान तक पहुंचने वाली भारत की पहली खिलाड़ी बनेंगी। जाहिर है इतिहास बनाने का दबाव भी सानिया मिर्जा पर है।

सानिया ने फ़ाइनल से पहले कहा है, 'मैं इस बारे में नहीं सोचना चाहती, लेकिन मैं भी इंसान हूं तो नंबर वन बनने का ख्याल भी आ रहा है।' उन्होंने भरोसा जताया है कि अपने ख्याल को पूरा करने के लिए वे हर एक प्वाइंट के लिए अपनी पूरी ताकत झोंक देंगी।

भारत की सानिया मिर्जा और स्विट्जरलैंड की मार्टिना हिंगिस की जोड़ी लगातार तीसरे टूर्नामेंट के फ़ाइनल में पहुंची हैं। दोनों ने इससे पहले दो टूर्नामेंट में एक साथ भाग लिया है और दोनों में जीत हासिल की है। तीन टूर्नामेंट के अब तक के सफर में दोनों ने लगातार 13 मैच जीते हैं।