एटा जेल सपाई अराजकता की शिकार: डा0 मनोज मिश्र

एटा जेल सपाई अराजकता की शिकार: डा0 मनोज मिश्र

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी ने एटा जेल में बंद मुख्यमंत्री के रिश्तेदार के आतंक से डरे जेल प्रशासन के मामले में सपा सरकार को कटघरे में खड़ा किया। पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता डा0 मनोज मिश्र ने सपा पर हमला करते हुए कहा कि एटा जेल के पूरे स्टाफ द्वारा तबादले की मांग सपा सरकार की ध्वस्त कानून व्यवस्था के मुहँ पर जोरदार तमाचा है। उन्होंने कहा कि जब जेल में बंद कैदी मुख्यमंत्री के नाम पर आतंक फैला सकते है तो खुलेआम सपाइयों का सड़को पर आतंक की कल्पना की जा सकती है। पूरा प्रदेश सपा के लोगो के आतंक से भयभीत हैं।

प्रवक्ता डा0 मिश्र ने कहा कि एटा जेल में बंद मुख्यमंत्री जी के रिश्तेदार के द्वारा पूरे जेल स्टाफ को आतंकित करना चिन्ताजनक है। उनकी घौंस, धमकी और आतंक के कारण एटा जेल के बंदी रक्षक से लेकर जेल अधीक्षक तक भयभीत और परेशान है। इस घौस-धमकी के कारण पूरा जेल प्रशासन एटा से अन्यत्र अपना तबादला चाहता है। इस्तीफे की धमकी से सिद्ध हो गया है कि प्रदेश में कानून का राज नहीं बल्कि एक परिवार का राज चल रहा है।

प्रवक्ता डा0 मिश्र ने बताया कि पूरा प्रदेश अराजकता का शिकार है और सपा सरकार अपने गुणगान में व्यस्त है। सीतापुर में दो पक्षो में जमकर गोलियां चली, वकील हत्याकाण्ड से पूरा प्रदेश जल रहा है, लूटपाट की घटनाऐ दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है और प्रदेश में सपाई अराजकता अपने चरम पर है। सरकार फिर भी प्रदेश में कानून के राज की बात कर रही है।

डा0 मिश्र ने मांग की कि सरकार तुरन्त एटा जेल मामले प्रकरण को रफा-दफा करने के बजाय मामले को संजीदगी से सुलझाऐ। अपराध में बंद अपराधी होता है वो किसी का रिश्तेदार बाद में होता है। प्रदेश भर में जेल में बंद अपराधियों के साथ जो बर्ताव किया जाता है वहीं बर्ताव एटा जेल में भी होना चाहिए।

Lucknow, Uttar Pradesh, India