केरल विधानसभा बनी नेताओं का कुरुक्षेत्र

केरल विधानसभा बनी नेताओं का कुरुक्षेत्र

विपक्ष ने स्पीकर की कुर्सी फेंकी, सदस्यों ने की हाथापाई

तिरुवनंतपुरम: केरल विधानसभा आज विधानसभा नेताओं का कुरुक्षेत्र बन गया। विधानसभा के भीतर मार्शल्स के सुरक्षा घेरे में वित्त मंत्री केएम मणि ने किसी तरह बजट पेश करने की औपचारिकता पूरी की। मणि पर केरल में बंद पड़े बारों को खोलने का लाइसेंस देने के लिए रिश्वत लेने का आरोप है। इसे लेकर विपक्षी एलडीएफ और बीजेपी ने ऐलान किया था कि वह भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे वित्त मंत्री को बजट पेश नहीं करने देंगे। कल से ही विपक्षी दलों के हज़ारों कार्यकर्ता विधानसभा के बाहर जमा हो गए थे।

वहीं वित्त मंत्री समेत दोनों तरफ़ के ज़्यादातर विधायक रात को विधानसभा के भीतर ही रुक गए थे। आज जैसे ही वित्त मंत्री बजट भाषण पढ़ना शुरू किया विपक्षी सदस्यों ने जमकर हंगामा किया। सदन के भीतर जबर्दस्त विरोध, धक्का-मुक्की, हाथापाई और ड्रामा देखने को मिला। विधानसभा अध्यक्ष की कुर्सी फेंक दी गई। इस दौरान दो विधायक ज़ख्मी भी हो गए जिन्हें अस्पताल ले जाया गया। विधानसभा के बाहर जमा कार्यकर्ताओं को खदेड़ने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया। सदन के बाहर पथराव भी हुआ।

गौरतलब है कि केरल विधानसभा के बाहर भी मणि के इस्तीफे की मांग को लेकर वामपंथी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की युवा शाखा के सदस्य प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका प्रदर्शन गुरुवार शाम से ही जारी है।