कांग्रेसियों ने ट्रेन रोक केंद्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

कांग्रेसियों ने ट्रेन रोक केंद्र सरकार के खिलाफ किया प्रदर्शन

लखनऊ:किसान विरोधी-जनविरोधी भूमि अधिग्रहण अध्यादेश एवं रेल किराये की वृद्धि, चुनाव अभियान के दौरान किये गये वायदों का न निर्वाह करने, बढ़ती मंहगाई तथा स्थानीय समस्याओं जिनमें इलाहाबाद  के एक वकील की पुलिस द्वारा हत्या, प्रदेश में ध्वस्त कानून व्यवस्था के सवालों पर जनआक्रोश  को अभिव्यक्ति देने के लिए प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष डाॅ0 निर्मल खत्री ने आज प्रदेश में आंदोलन छेड़ने  का ऐलान किया था। इस ऐलान के तहत प्रदेश भर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं और जनता ने इस आंदोलन को पूरी तरह कामयाब बनाया। 

इस प्रदेशव्यापी ‘रेल रोको-हाईवे चक्का जाम करो’ आन्दोलन व्यापक जनसमर्थन और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के उत्साह से जबर्दस्त ढंग से सम्पन्न हुआ। प्रदेश कंाग्रेस अध्यक्ष डाॅ0 निर्मल खत्री ने स्वयं लखनऊ में अपने सहयोगियों और कार्यकर्ताओं के साथ वरूणा एक्सप्रेस, सियालदह एक्सप्रेस, गंगा गोमती एक्सप्रेस ट्रेनों को काफी देरी तक रोके रखा।

पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल के नेतृत्व में कानपुर के गुमटी इलाके की रेलवे क्रासिंग पर कालिंदी एक्सप्रेस को रोका और केन्द्र सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जायसवाल के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ता गुमटी इलाके स्थित रेलवे क्रासिंग पहुंचे जहां उन्होंने कालिंदी एक्सप्रेस ट्रेन को रोक दिया। कांग्रेस कार्यकर्ता केन्द्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते रहे। वे अपने हाथ में बैनर और पोस्टर लिये थे। ट्रेन करीब 15 मिनट तक वहीं खड़ी रही।

बाद में पत्रकारों से बातचीत करते हुये जायसवाल ने कहा कि भाजपा ने चुनाव से पहले जनता से जो वायदे किये थे उनमें से एक भी पूरा नही हुआ है। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के खिलाफ कोयला मामले में अदालत द्वारा जारी सम्मन किये जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है लेकिन मनमोहन सिंह की छवि एकदम साफ सुथरी है और वह इस मामले में अदालत से पूरी तरह से पाक साफ साबित होंगे।

इस रेल रोको-हाईवे जाम करो आन्दोलन में कंाग्रेसपार्टी के फ्रन्टल संगठनों- महिला कांग्रेस, सेवादल, युवा कांग्रेस एवं एनएसयूआई, अल्पसंख्यक विभाग, अनु0जाति विभाग सहित अन्य विभागों एवं प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों, कार्यकर्ताओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। 

Lucknow, Uttar Pradesh, India