ISIS ने खोला अपना 'फेसबुक'

ISIS ने खोला अपना 'फेसबुक'

दुबई। बेशक आईएसआएस के खिलाफ अमेरिका सहित पश्चिमी मुल्कों ने युद्ध का बिगुल फूंक रखा हो, लेकिन इसके हौसले बुलंदी पर हैं। इसे अपने समर्थकों का भी खूब साथ मिल रहा है। आईस पर सोशल मीडिया फेसबुक और टवीटर पर लगे बैन से निपटने के लिए इसके समर्थकों ने अपना ही तरीका निकाल लिया। इन्होंने फेसबुक की तर्ज पर एक सोशल साइट बना डाली। हालांकि कयास ये भी हैं कि क्या आईएस ने ही इस साइट को बनाया है। सोशल मीडिया पर इस साइट की बड़ी चरचा है और कयासों का बाजार गर्म।

बैन से निपटने के लिए फेसबुक की तर्ज पर आईएस समर्थकों ने 5elafabook.com लॉन्च कर दी। हालांकि इसे लॉन्च करने के एक दिन बाद ही इसे ऑफलाइन भी कर दिया गया। साथ ही इसका ट्विटर अकाउंट भी बैन कर दिया गया। 5elafabook.com के पेज में एक वर्ल्ड मैप नजर आ रहा था, जिसमें इस्लामिक स्टेट का ट्रेडमार्क अरेबिक चिह्न बने हुए थे। इसलिए कयास ये भी लग रहे हैं कि इसे आईएस ने ही अंजाम दिया होगा।

इस साइट को सोशलकिट की मदद से बनाया गया था और इसमें यूजर्स को खुद से ही सोशल नेटवर्क हैंडल करने की सुविधा थी। हालांकि ये साफ नहीं हो पाया है कि इसे किसने बनाया था और इस पर कितने यूजर्स आए। फिलहाल इस पर मैसेज आ रहा है कि इसके सदस्यों की सुरक्षा और सूचनाओं के मद्देनजर इस साइट पर अस्थायी रूप से ऑपरेशन निलंबित कर दिए गए हैं।

इसमें ये भी कहा गया है कि 5elafabook.com एक स्वतंत्र वेबसाइट है और इसे आईएस ने प्रायोजित नहीं किया है। इस साइट को बनाने के पीछे मकसद ये है कि हम दुनिया को बताया चाहते हैं कि हम हथियार लेकर गुफाओं में रहने वालों में से नहीं हैं, जैसा कि दुनिया हमारे बारे में सोचती है। हम अपनी दुनिया में आगे बढ़ रहे हैं और इस्लामिक बनने के लिए तरक्कीपसंद रास्ता अख्तियार करना चाहते हैं। हम किसी को मारने के लिए जिंदा नहीं हैं जैसा कि मीडिया बता रहा है। हम अल्लाह के धर्म के दुश्मनों से लड़ रहे हैं। हम इस सपने के साथ जी रहे हैं कि पूरी दुनिया में इस्लाम का राज हो और शरिया के मुताबिक राज चले।