यूपी में होता है सबसे सस्ता इलाज: मुख्यमंत्री

यूपी में होता है सबसे सस्ता इलाज: मुख्यमंत्री

अखिलेश यादव ने सैफई में किया विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन

सुघर सिहं

सैफई (इटावा): उ0प्र0 ग्रामीण आयुर्विज्ञान एवं अनुसंधान संस्थान सैफई व संस्थान के अन्र्तगत संचालित पैरामेडिकल विज्ञान महाविद्यालय के लिए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास एवं उद्घाटन किया गय

संस्थान के सुपरस्पेशियलिटी एवं अन्य भवनों का शिलान्यास एवं लोकार्पण करते हुए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश सरकार ने शासन संभालते ही संस्थान के लिए ट्रामा एवं बर्न सेन्टर की स्वीकृति प्रदान की थी जिसका शिलान्यास माननीय नेता जी मुलायम सिंह यादव द्वारा किया गया जो आगामी जून-जुलाई में अपनी सेवायें मरीजों को प्रदान करने लगेगा। उन्होंने कहा कि संस्थान की आवश्यकताओं को देखते हुए आज जिन जरूरी योजनाओं का शिलान्यास किया जा रहा है उसमें 500 बेडेड सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल, मेडिकल स्टूडेन्ट्स के लिए 300 बेडेड हास्टल, पैरामेडिकल विज्ञान महाविद्यालय के लिए आवास, अतिथि गृह, सामुदायिक केन्द्र, केन्द्रीय पुस्तकालय तथा संस्थान के मरीजों व स्टाफ के लिए कैफेटेरिया आदि प्रमुख है। उन्होनंे कहा कि इन महत्वपूर्ण योजनाओं के लिए प्रदेश सरकार द्वारा आवश्यकतानुसार बजट स्वीकृत किया गया है साथ ही यदि जरूरी पड़ा तो सरकार द्वारा अतिरिक्त सहयोग प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा कि देश का यह पहला राज्य है जहाॅ सबसे सस्ता इलाज किया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार का उद्देश्य है कि बड़े रोगों का इलाज जिसमें कैंसर, हृदय रोग, किडनी से सम्बन्धित रोगों का इलाज सरकारी चिकित्सा संस्थानों में उपलब्ध हो और इसके लिए सरकार पिछले तीन साल से प्रयास कर रही है और आगे भी करती रहेगी।  

मंत्री लोकनिर्माण एवं सिंचाई माननीय शिवपाल यादव ने कहा कि सबसे सस्ता और सबसे अच्छा इलाज सैफई स्थित रिम्स मेडिकल कालेज में किया जा रहा है। उन्होंनंे कहा कि प्रदेश सरकार की यह मंशा है कि गंभीर रोगों के इलाज में मरीज की पूरी मदद सरकार द्वारा की जाये। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेश के विकास का सबसे बढि़या उदाहरण प्रतिव्यक्ति आय में बढ़ोत्तरी है। उन्होंने कहा कि जहाॅ पहले 22 हजार प्रतिव्यक्ति आय थी आज बढ़कर 40 हजार हो गयी है। 

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद प्रो0 रामगोपाल यादव ने कहा कि जनता से यह अपेक्षा की जाती है कि सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं में कहीं कमी या चूक रहे तो उससे सरकार को अवगत करायें। उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य गुणवक्तापरक स्वास्थ्य सेवायें देना है। 

संस्थान के निदेशक डा0 (ब्रिगे0) टी0 प्रभाकर ने कहा कि संस्थान के सुपरस्पेशियलिटी हास्पिटल के बन जाने से संस्थान में ही बडे रोगों का इलाज सम्भव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल में 22 सुपर स्पेशियलिटी ब्रांच में रोगों का इलाज सम्भव हो सकेगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में यूएसए के सहयोग से रोबोटिक सर्जरी शुरू की जाने वाली है। इसके अतिरिक्त विभिन्न सुपर स्पेशियलिटी ब्रांचों में एमसीएच कोर्सेज भी शुरू किये जायेंगे जो एक बड़ी उपलब्धि होगी। ा।  इस दौरान समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं सांसद प्रो0 रामगोपाल यादव, विशिष्ट अतिथि व मंत्री लोकनिर्माण एवं सिंचाई माननीय शिवपाल यादव, परिवहन मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव, कारागार मंत्री बलराम यादव, गृह सचिव देवाशीष पाण्डा, डीजी जेल भटनागर, डीजीएमई बीएन त्रिपाठी, विधायक रधुराज शाक्य, प्रदीप यादव, सुखदेवी वर्मा, जिलाध्यक्ष अशोक यादव, विधायक राजू यादव मैनूपरी जिले के वरिष्ठ अधिकारी संस्थान के फैकेल्टी मेम्बर, चिकित्सक तथा स्टूडेन्ट्स आदि उपस्थित रहे।

शिलान्यास किये जाने वाली योजनायें 

500 बेडेड सुपरस्पेशियलिटी हास्पिटल का शिलान्यास किया गया जो लगभग 2 वर्ष में बनकर तैयार हो जाएगा। इस योजना हेतु बजट रू0 333 करोड़ 56 लाख 43 हजार स्वीकृत कर दिया गया है। इसकी भूमि क्रय करने के लिए 31 करोड़ अलग से स्वीकृत कर दिया गया है। 

पैरामेडिकल कालेज के स्टाफ हेतु अतिरिक्त आवास एवं अन्य योजनाओं का शिलान्यास जिसमें पैरामेडिकल विज्ञान महाविद्यालय के लिए आवास, अतिथि गृह, सामुदायिक केन्द्र तथा केन्द्रीय पुस्तकालय का शिलान्यास किया गया। उक्त योजना हेतु बजट रू0 58 करोड़ 78 लाख 86 हजार स्वीकृत किया गया है। 

मेडिकल स्टूडेन्ट्रस के लिए 300 बेडेड हास्टल के निर्माण हेतु बजट रू0 19 करोड़ 58 लाख 3 हजार स्वीकृत किया गया है। 

लोकार्पण हेतु योजनायें 

संस्थान के मरीजों एवं उनके तीमारदारों तथा स्टाफ के लिए रू0 1 करोड़ 27 लाख 50 हजार से निर्मित किये गये कैफेटेरिया भवन का लोकार्पण किया गया।

86 बेडेड जूनियर डाॅक्टर हास्टल का लोकार्पण जिसके निर्माण में बजट रू0 4 करोड़ 41 लाख 14 हजार व्यय किया जायेगा।   

ट्रामा एवं बर्न सेन्टर के लिए बजट रू0 126 करोड़ 92 लाख 27 हजार स्वीकृत किया गया। ट्रामा सेन्टर का उद्घाटन आगामी जून-जुलाई में किया जायेगा।

Uttar Pradesh, India