साध्वी सरस्वती का विवादास्पद बयान

साध्वी सरस्वती का विवादास्पद बयान

पाकिस्तान की प्रशंसा करने वालों को जूते मारें 

मेंगलोर (कर्नाटक)। साध्वी प्राची के विवादास्पद बयान के बाद विश्व हिंदू परिषद (वीएचपी) की नेता साध्वी बालिका सरस्वती ने यह कहकर विवाद को जन्म दे दिया है कि जो लोग भारत में रहकर पाकिस्तान का गुणगान करते हैं उन्हें जूते मारने चाहिएं और फिर उन्हें वहीं भेज देना चाहिए। 

एक मार्च को आयोजित "हिंदू समाजोत्सव" में मध्य प्रदेश से आई साध्वी ने अपने बयान में कहा कि जो लोग भारत में रहते और खाते हैं और पाकिस्तान की तारीफ करते हैं उनकी जूतों से पिटाई करनी चाहिए। यही नहीं, उन्हें वहीं भेज देना चाहिए। 

अपने भाषण में उन्होंने आगे कहा कि हिंदू अयोध्या में राम मंदिर बनाएंगे और साथ ही पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में भी एक राम मंदिर बनाया जाएगा जहां पर हिंदू जाकर पूजा-अर्चना करेंगे। वहीं, पुलिस उनके भाषण की जांच कर रही है। 

मेंगलोर के पुलिस आयुक्त एस मुरूगन ने कहा कि हालांकि साध्वी के बयान को लेकर किसी ने फिलहाल शिकायत दर्ज नहीं करवाई है। उनके खिलाफ कार्रवाई तभी की जाएगी जब कोई शिकायत करेगा। उन्होंने आगे कहा कि पुलिस उनके भाषण की जांच कर रही और कुछ भी आपत्ति जनक लगा तो हम खुद उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे। 

"लव जिहाद" पर भी हमला बोलने वाली साध्वी ने कहा कि हम अब शांत नहीं बैठने वाले। हम आंख के बदले आंख लेंगे। इतिहास भले ही यह कहे कि भारत को आजादी अहिंसा से मिली, लेकिन मैं आपको बता दूं शांति के साथ आब आजादी नहीं ले सकते। हमें हथियार उठाने की जरूरत है। 

India