हर जान की कीमत अनमोल है: डाॅ0 एस एन एस यादव

हर जान की कीमत अनमोल है: डाॅ0 एस एन एस यादव

हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा नेशनल पीजी काॅलेज में Swinw Flu पर कार्यशाला आयोजित

लखनऊ: हेल्प यू एजुकेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट आज नेशनल पोस्ट ग्रेजुएट काॅलेज में “Swinw Flu: Be Aware and Be Alert” विषय पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। वर्कशॉप का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थियों को स्वाइन फ्लू के लक्षणों व उपचार एवं बचने के तरीकों से अवगत कराना था। 

गणमान्य अतिथियों डाॅ0 एस पी सिंह, प्रधानाचार्य, नेशनल पी जी कालेज, डाॅ0 एस एन एस यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, लखनऊ, डाॅ0 अनिल मिश्रा, जनरल मैनेजर, NRHM, डाॅ0 अमिता जैन, प्रोफेसर, Department of Microbiology, KGMC, डाॅ0 अविनाश अग्रवाल, एशोसिएट प्रोफेसर, Department of Medicine, KGMC, डाॅ0 डी हिमांशु, एशोसिएट प्रोफेसर, Department of Medicine, KGMC,  महेन्द्र भीष्म, ज्वाइंट रजिस्ट्रार, उच्च न्यायालय, लखनऊ पीठ, विनोद धवन, आर्किटेक्ट, व हर्षवर्धन अग्रवाल फाउण्डर ट्रस्टी, हेल्प यू एजुकेेशनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट ने दीप प्रज्जवलन एवं मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर कार्यशाला का उद्घाटन किया।

अतिथियों का स्वागत करते हुए हर्ष  वर्धन अग्रवाल ने कहा कि आज हममें से कोई भी स्वाइन फ्लू नामक बीमारी से अन्जान नहीं है और इस बीमारी ने दुनिया में महामारी का रूप ले लिया है। स्वाइन फ्लू से मरने वालों की संख्या में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है वहीं इस बीमारी सें पीडित मरीजों की संख्या भी बढती जा रही है। सरकार द्धारा जगह-जगह पर जागरूकता अभियान चलाये जा रहे हैं व लोगों को यह बताया जा रहा है कि स्वाइन फ्लू से किस प्रकार बचा जा सकता है। 

डाॅ0 एस पी सिंह, प्रधानाचार्य, नेशनल पी जी काॅलेज ने  कहा कि स्वाइन फ्लू से बढती मौतों की संख्या के कारण लोगों का इस बीमारी के बारे में जानना अत्यन्त आवश्यक है एवं कार्यशाला से हमारे काॅलेज के सभी सदस्यों व विद्यार्थीयों को निश्चय ही लाभ होगा व वे स्वाइन फ्लू के बारे में विस्तार से जान पायेंगे।

डाॅ0 एस एन एस यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी, लखनऊ, ने कहा स्वाइन फ्लू व्यक्ति से व्यक्ति में फैलता है व उमस बढने के कारण थोडा ज्यादा फैल गया था लेकिन अब नियंत्रण पा लिया गया है।  मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में 24 घंटे इन न0 - 0522-2622080, 07839700132  पर इस स्वाइन फ्लू से संबन्धित जानकारी प्राप्त की जा सकती है। लखनऊ में केजीएमसी, एसजीपीजीआई, सिविल हाॅस्पिटल, राम मनोहर लोहिया हाॅस्पिटल में स्वाइन फ्लू से संबन्धित ओपीडी व बेड़ की व्यवस्था की गई है। रैपिड़ रिस्पांस टीम बनायी गयी है जो स्वाइन फ्लू मरीज के घर जाकर उन्हें दवाई उपलब्ध करायेगी। डाॅ0 यादव ने कुछ सावधानियां बरतने को बताया और कहा सावधानी ही बचाव है।

1.जब भी खांसे/छींके अपने मुह तथा नांक को साफ कपडे/रूमाल/टिश्यू पेपर/मास्क से ढक लें।

2.समय समय पर अपने हांथों को साबुन तथा गुनगुने पानी से धोते रहें।

3.अपने मुंह तथा नांक को हांथ से ना छुयें।

4.भीड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचे।

5.यदि आपको फ्लू जैसे लक्षण हैं तो घर पर ही आराम करें, किसी सार्वजनिक स्थल पर जाने से बचें।

6.एनफ्लूएंजा-ए एच1एन1(स्वाइन फ्लू) से पीडि़त व्यक्ति से एक हांथ की दूरी पर रहें।

7.अधिकाधिक मात्रा में पानी व द्रव पदार्थ पियें।

8.नेचुरोपैथी का प्रयोग करें।

9.अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि के लिये ताजा पोषक, स्वास्थ्य वर्धक आहार लें।

10.हरी सब्जियां मौसमी फल तथा साइट्रस फलों का अधिक सेवन करें।

11.पूरी नींद लें।

12.हाथ न मिलायें।

13.चिकित्सक की सलाह के बगैर स्वयं चिकित्सा न करें।

वर्कशॉप में विधार्थियों द्धारा वैष्णवी अवस्थी द्धारा लिखित व निर्देशित एक लघु नाटक का मंचन भी किया गया। नाटक में मनीषा यादव, साधना यादव, किरन पाण्डे, अनुराधा सिंह, अंकिता पाठक, संदीप सिंह, आरती यादव, हेमन्त कुमार सिंह, शिशिर कुमार सिंह, हर्ष देवल, अनुज शुक्ला ने भाग लिया। "Question Answer Session" में विद्यार्थियों ने सम्मानित डाॅक्टर व वक्तागणों से स्वाइन फ्लू से संबंधित जानकारी प्राप्त की। प्रश्न पूछने वाले मारकाण्डेय तिवारी, नवीन मिश्रा, आक्रीति तिवारी, शिवानी चैरसिया, प्रनव सनवाल, आंचल श्रीवास्तव, शीतल प्रिया जैन, रूपक मिश्रा, कविता पटेल, स्वाती मिश्रा विधार्थियों को हेल्प यू एजुकेषनल एवं चैरिटेबल ट्रस्ट की तरफ से प्रमाण पत्र दिया गया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India