सातवीं मंज़िल से कूदकर डॉक्टर ने दी जान

सातवीं मंज़िल से कूदकर डॉक्टर ने दी जान

पत्नी ने ससुराल वालों पर लगाया तंत्र-मन्त्र करने का आरोप 

लखनऊ। आइआइएम रोड स्थित सहारा सिटी होम्स में रहने वाले डाक्टर शिवकुमार श्रीवास्तव ने आज तड़के सातवीं मंजिल स्थित अपने फ्लैट की बालकनी से कूदकर जान दे दी। राजधानी लखनऊ के मडिय़ांव थाने के दारोगा बृजेश कुमार के मुताबिक डाक्टर के बच्चे नहीं थे, जिससे पति-पत्नी दोनों अवसाद में रहते थे। डाक्टर का इलाज भी चल रहा था। इसी के चलते उन्होंने आत्महत्या की। उधर डाक्टर की पत्नी डा.संगीता श्रीवास्तव का आरोप है कि शिवकुमार के भाइयों ने उनपर तंत्र-मंत्र करा रखा था। डाक्टर की हालत बिगडऩे पर संगीता ने 28 फरवरी को पुलिस को भी बुलाया था।

डॉ. श्रीवास्तव मूल रूप से कानपुर के शास्त्रीनगर इलाके के रहने वाले थे। उनकी पत्नी संगीता बरेली की हैं। दोनों की शादी को दस साल से अधिक हो गया था लेकिन कोई संतान नहीं थी। परिचितों का कहना है कि इसे लेकर डॉक्टर तनाव में रहते थे।

डॉ. श्रीवास्तव अपने ट्रांसफर को लेकर भी परेशान रहते थे। वह चिनहट सीएचसी में तैनात थे। करीब एक साल पहले उनका तबादला इंदिरानगर स्थित ट्रेनिंगइंस्टीट्यूट में पॉपुलेशन कंट्रोल प्रोजेक्ट में कर दिया गया था।

घटना के बाद पुलिस इस बात की तहकीकात करती रही कि घर के किसी हिस्से से कोई भी सुसाइड नोट मिल जाए। खुद संगीता ने बिस्तरों को उलट पलटपर सुसाइड नोट खोजने का पूरा प्रयास किया।

इस हादसे की वजह से संगीता की भी हालत असामान्य हो गई थी। वह कभी अचानक से रो पड़ती तो कुछ समय के बाद ऐसे बातें करने लगतीं जैसे कुछ हुआ ही न हो। डॉ. संगीता का कहना है कि डॉक्टर को डराने के लिए उनके ही परिवार के लोग भूत-प्रेत और साया भेजते थे। और भूत कई बार उन्हें डरा भी चुका है।

Lucknow, Uttar Pradesh, India