पीएम मोदी ने बताया कोरोना का मतलब, ' कोई रोड पर न निकले'

पीएम मोदी ने बताया कोरोना का मतलब, ' कोई रोड पर न निकले'

नई दिल्लीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक दिन के जनता कर्फ़्यू से भारत ने दिखा दिया कि जब देश पर संकट आता है, जब मानवता पर संकट आता है तो किस प्रकार से हम सभी भारतीय मिलकर, एकजुट होकर उसका मुकाबला करते हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज रात 12 बजे से पूरे देश में संपूर्ण लॉकडाउन होने जा रहा है। देश में ये लॉकडाउन 21 दिन का होगा। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो कोरोना वायरस संक्रमण सायकिल को तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन के दौरान कोरोना वायरस को लेकर एक बैनर दिखाया और बताया कोरोना का मतलब, " कोई रोड पर न निकले"

एक दिन के जनता कर्फ्यू से भारत ने दिखा दिया कि जब देश पर संकट आता है, जब मानवता पर संकट आता है तो किस प्रकार से हम सभी भारतीय मिलकर, एकजुट होकर उसका मुकाबला करते हैं।आप कोरोना वैश्विक महामारी पर पूरी दुनिया की स्थिति को समाचारों के माध्यम से सुन रहे हैं और देख भी रहे हैं। दुनिया के समर्थ से समर्थ देशों को भी कैसे इस महामारी ने बिल्कुल बेबस कर दिया है।

22 मार्च को जनता कर्फ्यू का जो संकल्प हमने लिया था, एक राष्ट्र के नाते उसकी सिद्धि के लिए हर भारतवासी ने पूरी संवेदनशीलता के साथ, पूरी जिम्मेदारी के साथ अपना योगदान दिया: पीएम मोदी

भारत में कोरोना वायरस से संक्रमितों की संख्या 520 को पार कर गई है तथा एक और व्यक्ति की मौत के साथ देश में इस विषाणु से मरने वालों की संख्या अब 10 हो गई है। इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए यह जरूरी है कि लोग ‘लड़ने की भावना’ को कायम रखें।

महामारी से निपटने के लिए 32 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने 31 मार्च तक पूर्ण लॉकडाउन (बंद) की घोषणा की है। केंद्र ने लोगों द्वारा बंद का उल्लंघन करने की घटनाओं के मद्देनजर राज्यों से जरूरत पड़ने पर कर्फ्यू लगाने को कहा है। कोरोना वायरस के कारण भारतीय उद्योग और नौकरियों पर पड़ रहे बुरे प्रभाव के मद्देनजर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि संकट से निपटने में मदद के लिए जल्द ही एक आर्थिक पैकेज की घोषणा की जाएगी।

India