कोरोना वायरस: न्यूयॉर्क में इमरजेंसी का ऐलान

कोरोना वायरस: न्यूयॉर्क में इमरजेंसी का ऐलान

न्यूयॉर्कः कोरोना वायरस लगातार बढ़ रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन ने इसे महामारी कहा है। विश्व के लगभग 100 देशों में इसका प्रकोप फैल गया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार इस वायरस से दुनिया भर में 4800 लोगों की मौत हो गई है। लगभग इससे लाखों लोग संक्रमित हैं।

कोरोना वायरस के लगातार बढ़ते प्रकोप को देखते हुए न्यूयॉर्क में इमरजेंसी का ऐलान कर दिया गया है। न्यूयॉर्क शहर के मेयर बिल डी ब्लासियो ने गुरुवार को अमेरिका के सबसे बड़े शहर में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने की कोशिश करने के लिए आपातकाल की स्थिति की घोषणा की है।

इससे पहले न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू कूमो ने भी इमरजेंसी की घोषणा की थी। उन्होंने एक ट्वीट में इसका ऐलान करते हुए कहा कि समय-समय पर न्यूयॉर्क के लोगों को इसका अपडेट दिया जाता रहेगा। इमरजेंसी के दौरान प्रशासन कई कड़े कदम उठाता है, जिनमें लैब स्पेस को लीज पर लेने या हायर करने जैसे कदम शामिल हैं। इससे स्थानीय स्वास्थ्य विभाग को त्वरित गति से किसी स्थिति से निपटने में मदद मिलेगी।

सिटी हॉल में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए, डे ब्लासियो ने यह भी घोषणा की कि वह न्यूयॉर्क शहर के बार और रेस्तरां बंद रहेगा। महापौर ने कहा कि अगर कारोबार बंद हो जाता है तो उन्हें आश्चर्य नहीं होगा, लेकिन, "ये वे नियम हैं जो हम अभी से लागू करेंगे।" "मैं आपको आश्वासन दे सकता हूं, हममें से कोई भी यह कार्रवाई नहीं करना चाहता था।" लेकिन यह वह बिंदु है जहाँ यह आवश्यक है।

महापौर ने संवाददाताओं को बताया कि शहर में कोरोना वायरस के 95 मामले आ चुके हैं। उन्होंने कहा, "पिछले 24 घंटे बहुत, बहुत साहसी रहे हैं।" डी ब्लासियो का यह कदम न्यूयॉर्क सरकार के बाद आया। एंड्रयू क्यूओमो (डी) ने कोरोनोवायरस के प्रसार को रोकने की कोशिश करने के लिए राज्य भर में 500 या अधिक की सभाओं पर प्रतिबंध लगा दिया, जो डी ब्लासियो ने कहा कि "छह महीने का संकट हो सकता है।" न्यूयॉर्क राज्य में कोरोना वायरस के कुल 216 मामलों की पुष्टि हुई है।

कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या 100 पार करने के बीच न्यूयॉर्क में स्कूलों और कॉलेजों में कक्षाएं निलंबित कर दी गई हैं। वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण ‘आपदा' की स्थिति की घोषणा की गई है। यहां रविवार को कोरोना वायरस संक्रमण के मामले बढ़कर 106 हो गए, जिसके बाद राज्य के स्कूलों और कोलंबिया विश्वविद्यालय की कक्षाएं बंद करने पर मजबूर होना पड़ा।

न्यूयॉर्क के गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए शनिवार को ‘आपदा' स्थिति की घोषणा की। कोलंबिया समूह के एक सदस्य को कोरोना वायरस के संपर्क में आने की जानकारी के बाद पृथक रखा गया है, जिसके बाद कोलंबिया विश्वविद्यालय ने एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए सोमवार और मंगलवार को कक्षाएं निलंबित करने की घोषणा की। कोलंबिया विश्वविद्यालय के अध्यक्ष ली बोलिंगर ने एक बयान में कहा, ''गतिविधियों का यह निलंबन हमें शेष सप्ताह के लिए सुदूर स्थानों पर कक्षाएं संचालित करने की तैयारियों के लिए मौका देगा।

कक्षाएं निरस्त करने का यह मतलब नहीं है कि विश्वविद्यालय बंद किया जा रहा है।'' उन्होंने कहा कि यात्रा एवं आयोजनों से संबंधित प्रतिबंधों के साथ शोध समेत सभी गैर-कक्षा गतिविधियां जारी रहेंगी। बोलिंगर ने कहा , ''इस समय, यह जानना जरूरी है कि कैंपस में वायरस संक्रमण का कोई भी पुष्ट मामला नहीं है। यह कदम केवल संक्रमण की रोकथाम के मद्देनजर उठाया गया है।'' वहीं, न्यूयॉर्क के वेस्टचेस्टर काउंटी के स्थानीय शिक्षा विभाग ने एक माध्यमिक स्कूल के शिक्षक के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बाद जिले के सभी स्कूलों को 9-18 मार्च तक के लिए बंद करने की घोषण की।