जवाद ज़रीफ़ को वीज़ा न देने पर 120 देशों ने अमरीका की आलोचना की

जवाद ज़रीफ़ को वीज़ा न देने पर 120 देशों ने अमरीका की आलोचना की

तेहरान: 120 देशों के संगठन गुट निरपेक्ष आंदोलन ने, ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में शामिल होने के लिए वीज़ा देने से अमरीका के इंकार की कड़ी आलोचना की है।

शनिवार को नैम के सदस्य देशों ने एक बयान में अमरीका के इस क़दम का विरोध किया और अपने विरोध के समर्थन में पिछले अप्रैल में आज़रबाइजान की राजधानी बाकू में इस संगठन के 18वें शिखर सम्मेलन के घोषणापत्र के पैराग्राफ़ 24.6 का हवाला दिया।

इस घोषणापत्र में अमरीका की ओर से वीज़ा देने से इंकार को 1947 के संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय समझौते का खुला उल्लंघन कहा गया है। इस घोषणापत्र में वॉशिंग्टन को आदेश दिया गया है कि वह विदेशी अधिकारियों को संयुक्त राष्ट्र संघ से संबंधित मामलों में भाग लेने के लिए वीज़ा दे।

गुट निरपेक्ष आंदोलन के बयान के मुताबिक़, "नैम का संयोजक ब्यूरो इस्लामी गणतंत्र ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद ज़रीफ़ को वीज़ा देने से अमरीकी सरकार के इंकार को कड़ाई से रद्द करता है जिन्हें सुरक्षा परिषद के मौजूदा अध्यक्ष के निमंत्रण पर 9 जनवरी को सुरक्षा परिषद की बैठक में शामिल होना था। अमरीका का यह फ़ैसला न सिर्फ़ संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय समझौता बल्कि अंतर्राष्ट्रीय क़ानून का भी खुला उल्लंघन है।"