कृपाशंकर शुक्ल सच्चे समाजसेवी थे: शिवपाल यादव

कृपाशंकर शुक्ल सच्चे समाजसेवी थे: शिवपाल यादव

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण, सिंचाई एवं सहकारिता मंत्री शिवपाल सिंह यादव आज  ज्ञानोदय महाविद्यालय मडि़याॅव के वार्षिकोत्सव में सम्मिलित हुए। उन्होंने कहा कि ज्ञानोदय महाविद्यालय की स्थापना वर्ष 2005 में प्रसिद्व साहित्यकार, समाजसेवी, शिक्षक, एवं पत्रकार तथा राज्य सरकार द्वारा साहित्य भूषण की उपाधि से सम्मानित श्री कृपा शंकर शुक्ला द्वारा की गयी थी।

श्री यादव नेे कहा कि लखनऊ-सीतापुर रोड से हटकर अजीजनगर जो कि अत्यन्त पिछड़ा हुआ क्षेत्र था तथा यहां पर अधिकांश अल्पसंख्यक एवं पिछड़ी जाति, गरीबों, मजदूरों, किसानों एवं कामगारों की आबादी को शिक्षित करने एवं उन्हें आगे बढ़ाने की जो जिम्मेदारी निभाई वह अत्यन्त प्रसंशनीय है। श्री शुक्ला  जी के प्रयासों से आज यहां के अधिकतर परिवारों के आश्रित तमाम बच्चे इस महाविद्यालय में पढ़ाई करके उनके सपनों को सकार करने मे लगे हुए है।

उन्होंने कहा कि महाविद्यालय की प्राचार्या डा0 रेनू शुक्ला ने भी महाविद्यालय के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका का निर्वहन किया है। उनके नेतृत्व में विद्यालय दिन-प्रतिदिन सफलता की नई ऊँचाईयों को छूने के लिए अग्रसर है इनके पढ़ाये हुए बच्चे आज विभिन्न क्षेत्रों में विद्यालय एवं इस क्षेत्र का नाम रोशन कर रहे हंै।

श्री यादव नें प्रतिभाशाली विद्यार्थियों को पुरूस्कृत भी किया तथा इस अवसर पर विद्यार्थियों के द्वारा विभिन्न प्रकार के रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया जिसमें गीत, गजल, भजन एवं सामूहिक नृत्य गान का आयोेजन भी शामिल थे।

श्री यादव ने महाविद्यालय तक जाने वाली सड़क की मरम्मत एवं निर्माण करवाने का आश्वासन भी वहां की जनता को दिया।

Lucknow, Uttar Pradesh, India