हर दौर के क्रिकेटर्स अपने समय के बेस्ट होते हैं: युसूफ पठान

हर दौर के क्रिकेटर्स अपने समय के बेस्ट होते हैं: युसूफ पठान

लखनऊ में हुई "क्रिकेट अकादमी ऑफ़ पठान्स की शुरुआत

लखनऊ: उतर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज और ऐसी क्रिकेट की अकादमी का जन्म हुआ जिसका सीधा सम्बन्ध टीम इंडिया के नामी गिरामी खिलाडियों से है| शहर के केशव नगर क्षेत्र में पठान बंधुओं इरफ़ान और युसूफ पठान की "क्रिकेट अकादमी ऑफ़ पठान्स (CAP)" की आज औपचारिक शुरुआत हुई जिसका उद्घाटन आक्रमक बल्लेबाज़ युसूफ पठान ने किया| CAP की यह देश में 22 ब्रांच है|

इस अवसर पर पत्रकारों से बात करते हुए इरफ़ान ने कहा कि उत्तर प्रदेश में क्रिकेट की काफी प्रतिभा है और इस अकादमी को खोलने का उद्देश्य उस प्रतिभा को निखारना है| पठान ने कहा, जब हम लोगों ने क्रिकेट खेलना शुरू किया तो आअज जैसी सुविधाएं नहीं थीं और न ही आज जैसे प्रैक्टिस ग्राउंड थे लेकिन आज क्रिकेट अकादमियां बच्चों को बेहतर सुविधाएँ, अच्छी पिचेज़ और प्रेक्टिस मैदान उपलब्ध कराती हैं|

टीम इंडिया की कामयाबियों पर बात करते हुए युसूफ पठान ने कहा कि कपिल देव के इंग्लैंड में विश्व कप जीतने के बाद से देश क्रिकेट का परिदृश्य बदलने लगा और आज हम नंबर वन टीम के रूप में जाने जाते हैं और आशा करते हैं कि देश में क्रिकेट का माहौल और बेहतर होता जायेगा|

टीम इंडिया की आज की गेंदबाज़ी आक्रमण की तुलना 80 के दशक के कैरिबियाई पेस बैटरी से करने पर युसूफ पठान ने कहा कि हर दौर की क्रिकेट अपने दौर में बेस्ट होती है| उस ज़माने में कैरिबियाई आक्रमण बेस्ट था आज भारतीय आक्रमण बेस्ट है| इसलिए किसी दौर की किसी दौर से तुलना नहीं की जानी चाहिए|

टेस्ट क्रिकेट मैचों के तीन या चार दिन में ख़त्म हो जाने के सवाल पर पठान ने कहा कि टेस्ट क्रिकेट का अपना मज़ा है, यह अच्छी बात है कि अब हर टेस्ट मैच में रिजल्ट आ रहा है|