सयद मोदी बैडमिण्टन: वांग त्जू वेई, कैरोलिना मारीन के सिर सजा ख़िताब

सयद मोदी बैडमिण्टन: वांग त्जू वेई, कैरोलिना मारीन के सिर सजा ख़िताब

सभी पाँचों ख़िताबों पर पांच देशों के खिलाडियों ने किया क़ब्ज़ा, भारत के सौरभ वर्मा ने किया निराश

लखनऊ। चीनी ताइपे के वांग त्जू वेई ने सैयद मोदी इंटरनेशनल बैडमिंटन चैंपियनशिप एचएसबीसी वर्ल्ड टूअर सुपर 300-2019 में पुरुष सिंगल्स फाइनल में भारत की एकमात्र उम्मीद स्टार शटलर सौरभ वर्मा को सीधे गेम में 21-15, 21-17 से मात देकर उनके सफर का अंत हो गया। वहीं तीन बार की वर्ल्ड चैंपियन स्पेन की कैरोलीना मारीन ने उम्मीद के मुताबिक महिला सिंगल्स का खिताब अपने नाम किया।

बाबू बनारसी दास यूपी बैडमिंटन अकादमी में आज खेले गए मुकाबले में पुरुष सिंगल्स फाइनल में 26 साल के भारतीय खिलाड़ी सौरभ वर्मा की पहला सुपर 300 खिताब जीतने की उम्मीद को तब झटका लगा जब विश्व रैंकिंग में 22वें नंबर के खिलाड़ी वांग त्जू वेई ने 48 मिनट चले मुकाबले में उनकी हर चाल का सटीक जवाब दिया । सौरभ पहले गेम में 1-3 से पिछड़ गए थे लेकिन उन्होंने कुछ अच्छे स्मैश खेलकर 4-3 से आगे हो गए। इसके बाद वांग त्जू वेई के सर्विस फाल्ट के चलते उन्हें अंक मिले और सौरभ ने 7-4 से बढ़त बना ली। वहीं वांग त्जू वेई ने नेट के करीब शाॅट खेलकर 8-8 से बराबरी के बाद 10-8 से आगे हो गए। सौरभ ब्रेक में 11-10 से पिछड़े रहे और ब्रेक के बाद वापसी नहीं कर सके जबकि चीनी ताइपे के खिलाड़ी ने दबदबा बनाते हुए शानदार कोर्ट कवरेज के सहारे अंक जुटाते हुए पहले 13-11 स्कोर किया और 18-13 की बढ़त ली। इसके बाद सौरभ दो ही अंक जुटा सके जबकि चीनी ताइपे के खिलाड़ी ने लगातार तीन अंक जुटाकर पहला गेम 21-15 से जीत लिया। दूसरे गेम में भी सौरभ ने 5-0 से पिछड़ने के बाद बैकहैंड शाॅट खेलकर अंक जुटाए लेकिन वांग त्जू वेई ने करारे स्मैश खेलकर दबदबा बनाए रखा| सौरभ ने इस अंतर को 5-7 किया, इसके बावजूद वांग त्जू वेई ने ब्रेक में तीन अंक की बढ़त बना ली। ब्रेक के बाद सौरभ ने रणनीति बदली और 13-13 से बराबरी के बाद 15-14 से बढ़त बनाई लेकिन वांग त्जू वेई ने लगातार अंक जुटाते हुए दूसरा गेम भी 21-17 से अपनी झोली में डाल लिया।

महिला सिंगल्स में स्पेन की कैरोलीना मारीन ने थाई प्रतिद्वंद्वी फिटायापोर्ण चाइवान की चुनौती को 40 मिनट चले मैच में 21-12, 21-16 से ध्वस्त कर पहली बार यहां चैंपियन बनने का गौरव प्राप्त किया। कैरोलीना ने पहला गेम 21-12 से जीता। दूसरे गेम में थाई खिलाड़ी ने पलटवार किया और एक समय चाइवान के बढ़त बनाने से ऐसा लगा कि मैच का परिणाम तीसरे गेम में निकलेगा लेकिन मारीन ने अपने अनुभव का इस्तेमाल करते हुए प्रतिद्वंद्वी पर दबाव बनाया। हालांकि चाइवान ने भी कुछ अंक जुटाने का प्रयास किया लेकिन वह इसमें सफल नहीं हो सकी और मारीन ने 21-16 से गेम अपने नाम करते हुए खिताब जीत लिया। कैरोलीना मारीन ने जीतने के बाद शानदार अंदाज में दर्शकों की ओर शटल का शाॅट लगाकर खेल प्रेमियों को धन्यवाद कहा।कैरोलीना मारीन इससे पहले 2015 में हुए सैयद मोदी इंटरनेशनल बैडमिंटन टूर्नामेंट में साइना नेहवाल से हारकर उपविजेता रही थी। तीन बार की वर्ल्ड चैंपियन व ओलंपिक चैंपियन कैरोलीना मारिन की वर्तमान विश्व रैंकिंग 18 है जबकि थाई खिलाड़ी चाइवान 40वें नंबर पर हैं। वांग त्जू वेई और कैरोलीना मारीन ने पहली बार इस टूर्नामेंट में खिताब जीते।

फाइनल के परिणाम

मिक्स डबल्सः आठवीं वरीय रोडियान अलिमोव व एलीना दावलेतोवा (रूस) ने पहली वरीय मार्कस इलिस व लाॅरेन स्मिथ (इंग्लैंड) को 21-18, 21-16 से हराया

महिला डबल्सः सातवीं वरीय बेइक हा ना व जूंग क्योंग यून (कोरिया) ने चौथी वरीय चांग ये ना व किम हेई रिन (कोरिया) को 23-21, 21-15 से हराया

पुरुष सिंगल्सः आठवीं वरीय वांग त्जू वेई (चीनी ताइपे) ने सौरभ वर्मा (भारत) को 21-15, 21-17 से हराया

महिला सिंगल्सः चौथी वरीय कैरोलीना मारीन (स्पेन) ने फिटायापोर्ण चाइवान (थाईलैंड) को 21-12, 21-16 से हराया

पुरुष डबल्सः पांचवीं वरीय हे जी तिंग व तान कू इयांग (चीन) ने तीसरी वरीय चोई सोलगेयू व सेई सियांग जेई (कोरिया) को 21-18, 21-19 से हराया।