प्रियंका गांधी का सवाल, इंटरनेशनल ब्रोकर' की PMO तक पहुँच कैसे बनी

प्रियंका गांधी का सवाल, इंटरनेशनल ब्रोकर' की PMO तक पहुँच कैसे बनी

नई दिल्ली: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूरोपीय सांसदों के एक प्रतिनिधिमंडल के जम्मू-कश्मीर दौरे को लेकर बुधवार को नरेंद्र मोदी सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि 'इंटरनेशनल ब्रोकर' की प्रधानमंत्री कार्यालय तक पहुंच है, लेकिन देश के किसानों और बेरोजगारों को यह सुविधा हासिल नहीं है. इसके साथ उन्होंने यह सवाल भी किया कि प्रधानमंत्री कार्यालय में 'इंटरनेशनल ब्रोकर' की पहुंच कैसे बनी?

प्रियंका ने ट्वीट कर कहा, 'भारत के किसानों-बेरोजगार युवाओं के लिए ये सुविधा नहीं है कि PM से मुलाकात हो सके, समस्याएं सुनी जा सकें. लेकिन माडी शर्मा जैसे इंटरनेशनल बिजनेस ब्रोकर बड़ी शान से लिख सकते हैं कि भारत आइए, हम आपका खर्चा भी उठाएंगे, प्रधानमंत्री कार्यालय में हमारी पहुंच है, हम आपको प्रधानमंत्री से भी मिलवाएंगे.'

उन्होंने सवाल किया, 'इन बिजनेस ब्रोकर की प्रधानमंत्री कार्यालय में पहुंच बनी कैसे?' गौरतलब है कि 23 यूरोपीय सांसदों के प्रतिनिधिमंडल ने जम्मू-कश्मीर का दो दिवसीय दौरा किया. इन सांसदों ने बुधवार को कहा कि अनुच्छेद 370 भारत का आंतरिक मामला है और वैश्विक आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में वह देश के साथ खड़े हैं.