सकारात्मक सोच ही बहुजन समाज को एकजुट कर सकती है : लक्ष्य

सकारात्मक सोच ही बहुजन समाज को एकजुट कर सकती है : लक्ष्य

नई दिल्ली: लक्ष्य की दिल्ली टीम ने "बहुजन जनजागरण" अभियान के तहत एक कैडर कैम्प का आयोजन दिल्ली के गोयला डेरी में किया | जिसमें विस्तार से सामाजिक चर्चा की गई व लक्ष्य को दिल्ली में मजबूत करने की रणनीति भी बनाई गई |

सकारात्मक सोच ही बहुजन समाज को एकजुट कर सकती है अर्थात सकारात्मक सोच वाले लोग ही अपने लक्ष्य तक पहुंच पाते है और नकारात्मक लोग अपने लक्ष्य तक नहीं पहुँच पाते है वे लोग कदम कदम पर भ्रमित व विचलित होते है और दूसरो को भी भ्रमित करते रहते है यानिकि ऐसे लोग समाज में भाईचारा व मजबूती के राह में एक रोड़ा है | ऐसे नकारात्मक लोगो से बहुजन समाज भरा पड़ा है जिसका परिणाम है कि एक मजबूत व विशाल समाज छोटे छोटे नकारात्मक टुकड़ो में बंटकर एक कमजोर समाज बनकर रह गया है | यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपनी सामाजिक चर्चा के दौरान कही |

लक्ष्य कमांडरों ने अपनी सामाजिक चर्चा के दौरान कहा कि अगर बहुजन समाज को मजबूत व विशाल बनना है तो घर घर व गांव गांव निरन्तर सामाजिक चर्चाओं का अभियान चलाना होगा ताकि नकारात्मक लोगो में सकारात्मकता वाली सोच बने और उनको मानसिक रूप से मजबूत बनाया जा सके तभी जाकर बहुजन समाज अपनी खोई हुई विशालतम ताकत प्राप्त कर सकता है | उन्होंने बहुजन उत्थान में तथागत गौतम बुद्ध, महात्मा ज्योतिबा राव फुले, सावित्री बाई फुले, छत्रपति साहू जी महाराज, पेरियार ई. वी. रामा स्वामी नायकर, डॉ भीमराव अम्बेडकर व मान्यवर कांशीराम के योगदान की जोरदार चर्चा की |

उन्होंने बहुजन समाज के लोगो से अपील करते हुए कहा कि आओ मिलकर बहुजन समाज की विशालता को मजबूत बनाएं |

इस कैडर कैम्प में मध्य प्रदेश से आये लक्ष्य युथ कमांडर अखिलेश गौतम, लक्ष्य कमांडर जयपाल सिंह, सतीश, ईश्वर सिंह, सुभाष, विनोद रंगा, लाल सिंह, पूरन चंद, बैद्यनाथ साहू व लक्ष्य के दिल्ली चीफ कमांडर माधव यादव ने हिस्सा लिया और दिल्ली में लक्ष्य की मजबूती के लिए रणनीति पर विस्तार से चर्चा की |

India