मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के कारण दुनिया में बन रहा है भारत का मजाक: राहुल गांधी

मोदी सरकार की आर्थिक नीतियों के कारण दुनिया में बन रहा है भारत का मजाक: राहुल गांधी

महेंद्रगढ़, हरियाणा: हरियाणा के महेंद्रगढ़ की चुनावी रैली में शुक्रवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि मोदी को अर्थव्यवस्था की कोई समझ नहीं है और उनकी नीतियों के कारण दुनिया में भारत का मजाक बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अगर देश को बांटा जाएगा तो देश कभी तरक्की नहीं कर सकता। इस रैली को पहले कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी संबोधित करने वाली थीं, लेकिन राहुल गांधी ने रैली को संबोधित किया।

राहुल गांधी ने कहा, ‘2004 से 2014 के दौरान यूपीए की सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को पहले स्थान पर पहुंचा दिया था। जो भारत दुनिया को रास्ता दिखाता था, उसका आज मजाक बनाया जा रहा है। एक जाति दूसरी जाति से लड़ रही है, एक धर्म के लोग दूसरे धर्म के लोगों से लड़ रहे हैं। यही नहीं, भारत की शान अर्थव्यवस्था की धज्जियां उड़ा दी गईं।' उन्होंने कहा कि दस साल मनमोहन सिंह ने अर्थव्यवस्था को खड़ा करने का काम किया। देश की अर्थव्यवस्था को अगर पटरी पर लाना है तो गरीबों की जेब में पैसा डालना होगा।

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘ मोदी जी ने संसद में कहा कि मनरेगा से खराब कोई योजना नहीं है। नरेंद्र मोदी को अर्थव्यवस्था की कोई समझ नहीं है। 2014 के बाद कुछ अमेरिका के कुछ मशहूर अर्थशास्त्रियों ने कहा कि हम देश की बढ़ती अर्थव्यवस्था को समझना चाहते थे। उन्होंने मुझसे कहा कि इसके पहले के 10 सालों में देश की अर्थव्यवस्था मनरेगा और किसान कर्जमाफी के कारण तेजी से बढ़ी।' उन्होंने कहा कि विजय माल्या, नीरव मोदी और मेहुल चौकसी को मोदी पैसे दे रहे हैं और वे देश छोड़कर भाग गए। मोदी ने मजदूरों और किसानों की जेबों से पैसा निकाल लिया। आज पब्लिक सेक्टर इकाइयों को खत्म किया जा रहा है और मोदी इन्हें अपने अरबपति दोस्तों के लिए बेच रहे हैं।

उन्होंने कहा, 'देश के हालत आपके सामने है, आपसे कुछ छिपाया नहीं जा सकता। 40 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी आज देश में हैं। आप किसी भी प्रदेश में युवाओं से पूछिए कि क्या करते हो तो वे कहते हैं कुछ नहीं। छोटे और मझोले कारोबारियों से पूछिए कि आपका काम कैसे चला रहा है तो वो कहेंगे नोटबंदी, नोटबंदी और गब्बर सिंह टैक्स ने हमें बर्बाद कर दिया।' कांग्रेस नेता ने कहा कि मीडिया डरा हुआ है, मीडिया वाले कहते हैं कि 'हम सच्चाई जानते हैं लेकिन हम इसे नहीं दिखा सकते क्योंकि हम अपनी नौकरी खो देंगे।' दूसरी तरफ मीडिया के मित्र दिनभर 24 घंटे मोदीजी का भाषण दिखाते हैं। कभी आपने देखा कि देश में भयंकर बेरोजगारी के बारे में बात हो रही है? क्या कभी देखा कि किसान आत्महत्या की बात की जा रही है।

राहुल गांधी ने कहा, 'नरेंद्र मोदी का एक काम देश का ध्यान भटकाना है ताकि असली मुद्दों पर देश का ध्यान कभी नहीं जाए। मोदी देश के अरबपतियों के लिए ध्यान भटकाते हैं और फिर लाखों करोड़ रुपये हिंदुस्तान के आम लोगों से लेकर इन उद्योगपतियों को दे देते हैं।' उन्होंने कहा, ‘भाजपा ने हरियाणा में कहा था कि किसानों का कर्ज माफ कर देंगे लेकिन क्या हुआ? माफ नहीं हुआ।' उन्होंने कहा कि पूरे देश में किसान कर्ज माफ की बात करता है। कांग्रेस ने छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश में किसानों का कर्जा माफ किया। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने देश के कुछ उद्योगपतियों के साढ़े पांच लाख करोड़ रुपये माफ कर दिए।' उन्होंने कहा, 'किसानों का कर्ज माफ होने पर कहा जाएगा कि किसान आलसी हो जाएंगे, लेकिन उद्योगपतियों के कर्जमाफी पर कुछ नहीं जाएगा। सवा लाख करोड़ रुपये कारपोरेट कर माफ कर दिए गए।'