मातृ-शक्ति के परिवर्तन से ही, बहुजन समाज परिवर्तन की राह पकड़ सकता है : लक्ष्य

मातृ-शक्ति के परिवर्तन से ही, बहुजन समाज परिवर्तन की राह पकड़ सकता है : लक्ष्य

कानपुर देहात: लक्ष्य की महिला टीम ने लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम के नेतृत्व में धम्म चक्र प्रवर्तन दिवस के अवसर पर एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन उत्तर प्रदेश के जिला कानपुर देहात की तहसील डेरापुर के गांव नोनारी बुजुर्ग में किया | जिसमे गांव के लोगो ने विशेषतौर से महिलाओ ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया | लक्ष्य द्वारा चलाये जा रहे जागरूकता अभियान के तहत कैडर कैम्पो में लगातार उमड़ती महिलाओ की संख्या प्रदेश में बढ़ते लक्ष्य के प्रभाव को दर्शाती है |

मातृ-शक्ति के परिवर्तन से ही, बहुजन समाज परिवर्तन की राह पकड़ सकता है | अगर बहुजन समाज की महिलाऐं जागरूकता के पथ पर चलना आरम्भ कर दे तो समझ लेना समाज परिवर्तन की राह पर चलने लगा है और आने वाले वक्त में वह एक सशक्त समाज बनने वाला है और कोई भी ताकत अब उनको अपने जंजाल में फंसाकर गुलामी नहीं करा सकती है क्योकिं बहुजन समाज की महिलाऐं ही सामाजिक व धार्मिक कुरीतियों के अन्धविश्वास में जकड़ी हुईं हैं। जिसके कारण ही पूरा का पूरा बहुजन समाज सामाजिक कुरीतिओ से ग्रस्त है तथा वह दयनीय स्थिति से गुजर रहा है | यह बात लक्ष्य की महिला कमांडरों अपने सम्बोधन में कही |

उन्होंने बहुजन समाज की महिलाओ से अपील करते हुए कहा कि आप अपने बच्चो का भविष्य अच्छा देखना चाहते हो तो आज से ही अंधविश्वास को घर से बाहर निकल दो और अगर अंधविश्वास घर से बाहर निकल गया तो सामाजिक कुरीतियों का अंत स्वयं ही हो जायेगा और इन दोनों बीमारियों का अंत आप लोगो को खुशहाली की राह पर ले जायेगा और अगर आप लोग खुशहाली की राह पर चलने लगेगें तो समाज अपने आप ही खुशहाल हो जायेगा | उन्होंने बहुजन समाज के लोगो को समझाने के लिए महापुरुषों के योगदान को याद दिलाया और बताया कि उनके बताये मार्ग से ही हमारा उद्धार संभव है|

उन्होंने तथागत गौतम बुद्ध की शिक्षाओं पर जोर देते हुए कहा कि उनके वैज्ञानिक मार्ग और विज्ञान के सामने सब बेकार है | उन्होंने बताया कि तथागत बुद्ध की शिक्षाओं से प्रभावित होकर ही बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर ने बहुजन समाज को तथागत बुद्ध का मार्ग दिखाया अर्थात आज से 63 वर्ष पूर्व 14 अक्टूबर 1956 में बुद्ध धम्म ग्रहण किया था | लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि जहाँ विज्ञान होगा वहीँ बुद्ध होगा और वहां स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व का ही वास होगा और बुद्ध का दर्शन (स्वतंत्रता, समानता व बंधुत्व) मनुष्य को मानवता वाला मार्ग दिखाता है |

इस कैडर कैम्प में लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम, रेखा आर्या, राजकुमारी कौशल, विजय लक्ष्मी गौतम, अनीता गौतम, स्मिता चंद्रा ने हिस्सा लिया | आयोजक मनोज कुमार ने सभी लक्ष्य कमांडरों का धन्यवाद किया और उपस्थित लोगो ने लक्ष्य के जागरूकता अभियान की जोरदार प्रशंसा की |