*क्या है सपा के मालिक का दर्द?*

*क्या है सपा के मालिक का दर्द?*

तौसीफ़ कुरैशी सियासत में जातिवाद को पैदा करने वाले परिवार ने अपनी जाति को लेकर सियासत करनी शुरू कर दी है सपा कंपनी के मालिक अखिलेश यादव पहुँच गए है झाँसी उनकी झाँसी यात्रा पर सवाल उठ रहे है कि सपा के मालिक अखिलेश यादव झाँसी सिर्फ़ यादव होने की वजह से गए है नही तो प्रदेश में ऐसी बहुत सी धटनाए हुई जहाँ सपा के मालिक को जाना चाहिए था लेकिन वो नही गए इससे पूर्व भी सपा के मालिक ये साबित कर चुके है कि वे पहले यादव है बाद में कुछ और योगी सरकार बनी ही थी कि कुछ यादव सिपाहियों का नोएडा से तबादला कर दिया गया तो जब भी उनको बहुत दुख हुआ था कहा था कि एक जाति को निशाना बनाया जा रहा है गौरतलब हो कि उसी दौरान पशुवधशालाओ पर योगी डन्डा चला रहे थे नाम दिया गया था अवैध पशुवधशालाओ को बंद करना वैध अवैध की बात तो अलग है लेकिन उससे पूरा मुस्लिम समाज असरअंदाज हुआ था लेकिन दो शब्द नही निकले थे ये हाल है नेताओं का।आज तक वैध पशुवधशालाओ को बनाने की ओर कोई क़दम सरकार ने नही उठाया और न ही विपक्ष ने ही इस बारे में आवाज उठाई ये बात अपनी जगह है।जबकि यादव जाति वोट के एतबार से मोदी की भाजपा के साथ है फिर भी जाति प्रेम अखिलेश यादव को मजबूर कर देता है क्यों किसी मुसलमान के दर्द को महसूस नही करते क्यों किसी अन्य हिन्दू के दर्द को महसूस नही करते ?

झांसी-अखिलेश यादव ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस-

झांसी के वीरांगना होटल में प्रेसवार्ता में अखिलेश यादव ने कहा कि झांसी में पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव की हत्या हुई है। यह फेक एनकाउंटर है। पुलिस प्रशासन पर भरोसा नहीं है। जितना निष्पक्ष प्रशासन होगा, उतनी अच्छी छवि सरकार की होगी। ये भाजपा सरकार अपनी अच्छी छवि नहीं बनाना चाह रही है। हाईकोर्ट के एक सिटिंग जज से पुष्पेन्द्र के मामले की जांच होनी चाहिए। दोषियों को सरकार बचा रही है। पूरा झांसी, जालौन, कालपी और कानपुर की जनता सच जानती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा सरकार का रवैया ठीक नहीं है। पीड़ितों की एफआईआर नहीं दर्ज होती है। पुष्पेन्द्र यादव के परिवार के साथ अन्याय हुआ है। पीड़ित परिवार न्याय चाहता है। समाजवादी पार्टी पीड़ित परिवार को इंसाफ दिलाएगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में मानवाधिकार उल्लंघन के मामलों में सबसे ज्यादा नोटिसें मिली हैं। हिरासत में मौतें भी सबसे ज्यादा हुई हैं। यूपी में अफसर बेलगाम हैं। उन्होंने कहा, लोकतंत्र में जो जनता को दुख देता है, जनता उसे सत्ता से बाहर कर देती है। याद रखिए, कोई भी सरकार हमेशा नहीं रहती है। आशा करता हूं कि प्रशासन पुष्पेन्द्र के मामले में पर्दा डालने का प्रयास नहीं करेगा।

उन्होंने कहा कि नोटबंदी से भ्रष्टाचार खत्म होने का दावा झूठा साबित हुआ है। साथ ही सवाल किया कि 370 से कश्मीर में आतंकवाद कहां खत्म हुआ? जीएसटी के संकट से हम उबर नहीं पाए हैं। इससे व्यापार बढ़ा नहीं, नुकसान ज्यादा हुआ है। हमारे देश का ग्रोथ रेट गिरा है। बांग्लादेश हमसे आगे हो गया है। कुपोषण में हम नम्बर एक हैं।

उन्होंने कहा कि प्रशासन अपनी जिम्मेदारी नहीं निभा रहा है। दोषियों को बचाने की साजिश हो रही है। उन्होंने कहा कि वे सरकार को जगाने की कोशिश कर रहे हैं। उपचुनाव के बाद वे साइकिल यात्रा निकालेंगे। यह यात्रा गरीबों को न्याय दिलाने के लिए होगी।

सपा मुखिया झांसी में एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से कल मिले थे। सपा की ओर से केडी सिंह बाबू स्टेडियम से जीपीओ पार्क तक आज शाम को कैंडिल मार्च भी निकाला जाएगा। मामले के तूल पकड़ने के बाद पुलिस ने कल आरोपी इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर किया है। हालांकि पीड़ितों की मांग पर कोई कार्यवाही नहीं की गई है।

झांसी पुलिस की ओर से कल ट्वीट कर यह कहा गया था कि पुष्पेंद्र प्रकरण में भ्रामक खबर या अफवाह न फैलाएं। अन्यथा अभियोग पंजीकृत कर विधिक कार्यवाही की जाएगी। साथ ही कहा गया था कि डीएम झांसी के आदेशानुसार मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए गए हैं और एडीएम प्रशासन द्वारा जांच की जा रही है। हालांकि ट्विटर पर ट्रोल होने के बाद आज ट्विट डिलीट कर दिया गया है।