अजवाइन और अख़रोट दिलाये डायलेसिस से निजात

अजवाइन और अख़रोट दिलाये डायलेसिस से निजात

जब किसी व्यक्ति की किडनी काम करना बंद कर देती है तो इंसान डायलिसिस करवाने पर मजबूर हो जाता है। अगर कोई मरीज़ इस समस्या में ग्रस्त है तो उसके लिए बेहतरीन और आसान एलाज यह है कि आख़रोट और अजवाइन का प्रयोग शुरू कर दे। अजवाइन से सब परिचित हैं ज़ीरे जैसी होती है बल्कि उससे भी बारीक और दुकानों पर आसानी से मिल जाती है।

हर रोज़ रात के समय दो तीन चम्चा अजवाइन खाएं और साथ में अख़रोट खाएं। कुछ दिनों तक यही करते रहें तो बेकार हो चुकी किडनी धीरे धीरे काम करना शुरू कर देगी। किडनी को निकलवाने की ज़रूरत नहीं है। अख़रोट का गूदा और अजवाइन रोज़ाना रात के समय दो तीन चम्चा खाएं।

किडनी में पत्थर बन जाते हैं और दर्द से इंसान बहुत परेशान होता है। इसके बारे में सवाल करते हैं कि इसका क्या इलाज है। तो एक दवा है जिसका नाम है दारूए जामे इमाम रेज़ा। यह दवा चमत्कार करती है। बहुत सारी बीमारियों का इलाज इस दवा से हो जाता है। यह दवा बहुत से असाध्य रोगों का भी इलाज कर देती है। पानी में आज तुरुब को पकाइए। तुरुब शलग़म से मिलती जुलती चीज़ है जिसे अंग्रेज़ी में रैडिश कहते हैं। यह सफ़ेद और लाल रंग का होता है। इसे पानी में पका लीजिए और फिर उस पानी को छान लीजिए। यह छना हुआ पानी पीजिए। यह पानी चमत्कार करेगा। यह पानी किडनी के पत्थर को गला देता है। यानी निकालता नहीं कि पत्थर निकलने में दर्द हो बल्कि पत्थर को गला देता है और बहुत आराम से किडनी का पत्थर बाहर निकल जाता है।

किडनी का पत्थर कितना ही बड़ा क्यों न हो। कभी कभी पत्थर इतना बड़ा होता है कि डाक्टर कहते हैं कि आप्रेशन के अलावा इसका कोई इलाज नहीं है एसे पत्थर को भी यह पानी गला कर बाहर निकाल देता है। तो डरने और घबराने की ज़रूरत नहीं है।