भारतीय सेना के दावे को पाकिस्तान ने किया खारिज

भारतीय सेना के दावे को पाकिस्तान ने किया खारिज

कश्मीर की स्थिति पर दुनिया का ध्यान भटकाने करने की कोशिश कर रहा भारत नई दिल्ली: भारतीय सेना द्वारा पाकिस्तान की सेना से अपने घुसपैठियों (बैट के जवान) के शवों को अपने कब्जे में लेने की पेशकश के बाद पाकिस्तान की प्रतिक्रिया आई है। पाकिस्तानी सेना ने भारतीय सेना के उस दावे को खारिज किया है, जिसमें कहा गया कि ये लाशें पाकिस्तानी कमाडों की हैं, जो भारतीय सेना द्वारा जम्मू-कश्मीर के केरन सेक्टर में पाकिस्तान सीमा कार्य बल (बीएटी) के हमले को नाकाम किए जाने के दौरान मारे गए थे।

दरअसल, कश्मीर को लेकर चल रही सियासी हलचलों के बीच सेना ने शनिवार को नियंत्रण रेखा के पास केरन सेक्टर में पाक सेना के बार्डर एक्शन टीम (बैट) के हमले को नाकाम कर दिया था। भारतीय सेना की कार्रवाई में बार्डर एक्शन टीम के 5-7 जवानों को मार गिराया गया। इसके बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना को एलओसी पर मारे गए बैट जवानों/ आतंकियों का शव ले जाने का प्रस्ताव भेजा था।

पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने भारतीय दावे को 'महज प्रोपेगेंडा' करार देकर नकार दिया और कहा कि भारत कश्मीर की स्थिति के बारे में दुनिया का ध्यान भटकाने करने की कोशिश कर रहा है। इसी प्रकार विदेश मंत्रालय के कार्यालय ने भी भारत के दावों को खारिज करने के लिए एक बयान जारी किया।

विदेश मंत्रालय के कार्यालय ने अपने बयान में कहा कि "हम पाकिस्तान द्वारा एलओसी की कार्रवाई और शवों को कब्जे में लेने के भारतीय आरोपों को खारिज करते हैं।"

बता दें कि इससे पहले पाकिस्तानी सेना से सफेद झंडे दिखाते हुए भारतीय सेना से संपर्क करने और भारतीय सीमा में पड़े उसके कर्मियों के शवों को अपने कब्जे में लेने को कहा गया है। सेना ने केरन सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास एक अग्रिम चौकी पर बीएटी के हमले को नाकाम कर दिया था जिसमें पांच से सात घुसपैठिए मारे गए थे।