वाइब्रेटर वाले सीन से पहले काफी नर्वस थीं कियारा

वाइब्रेटर वाले सीन से पहले काफी नर्वस थीं कियारा

बर्थडे गर्ल कियारा आडवाणी साल 2014 से शुरू हुए अपने फिल्मी करियर में अब तक आठ फिल्में दे चुकी हैं. लेकिन उनकी दो ही फिल्में ऐसी हैं जो कोई भुलाए नहीं भूल सकता. पहली वो शॉर्ट फिल्म जो 'लस्ट स्टोरीज' का हिस्सा थी. इसमें कियारा के मास्टरबेशन सीन ने खूब सुर्खियां बटोरी थीं. कियारा के करियर की दूसरी यादगार फिल्म रहेगी 'कबीर सिंह' ये फिल्म भी विवादों में रही. लेकिन बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छी कमाई की. 'कबीर सिंह' में जहां लोगों को शाहिद के किरदार के बर्ताव से आपत्ति थी. तो वहीं 'लस्ट स्टोरीज़' में कियारा ने अपनी परफॉर्मेंस से सबका ध्यान अपनी तरफ खींचा था.

कियारा ने नेहा धूपिया के शो 'नो फिल्टर नेहा' में बताया था कि किस तरह वह क्लाइमैक्स सीन शूट किया गया. कियारा ने बताया कि वह वाइब्रेटर वाले सीन से पहले काफी नर्वस थीं. एक्ट्रेस ने बताया कि करन ने इस सीन को करने के कई तरीके बताए. वह चाहते थे कि मैं इस सीन को बेझिझक करूं. करन ने कहा कि स्क्रीन पर वाइब्रेटर वाले सीन का बहुत ही छोटा सा हिस्सा दिखाया जाएगा.

कियारा ने कहा, करन नहीं चाहते थे कि मैं इस सीन पर हंसू. इस सीन से एक दिन पहले मैं काफी नर्वस थीं. असल में, इस सीन को करने के लिए मैंने गूगल पर सर्च किया आखिर लोग वाइब्रेटर का इस्तेमाल कैसे करते हैं. मैंने 'द अगली ट्रूथ' जैसी फिल्मों के कुछ सीन्स देखे, ये जानने के लिए कि ये है क्या.'

कियारा ने बताया कि करन ने उन्हें सलाह दी थी कि वह ये सीन पूरी ईमानदारी से करें. कियारा अपने सीन को लेकर इतनी कॉन्फिडेंट थीं कि उन्होंने ये फिल्म अपने परिवार के साथ भी देखी थी. कियारा ने कहा, 'मेरी दादी साथ रहने आई थीं. ये फिल्म उसी वक्त नेटफ्लिक्स पर रिलीज हुई थी. मैंने ये फिल्म अपने पैरेंट्स के साथ भी देखी थी. सबने इसे बहुत पसंद किया था. उन्हें ऑर्गैज्म सीन से कोई फर्क नहीं पड़ा था. वो ये तबसे जानते थे जब मैंने ये फिल्म साइन की थी. मैंने उन्हें इसके लिए तैयार कर लिया था.'

कियारा ने कहा, 'मेरी दादी एंग्लो इंडियन है. वह हाफ ब्रिटिश हैं. तो उन्हें कुछ चीजें समझ नहीं आ रही थीं. फिल्म के कुछ ऐसे जोक्स थे जो उनकी समझ से परे थे. वह फिल्म सब टाइटल के साथ देख रही थीं. सब हंस रहे थे. जो भी फिल्म देख रहे थे अलग-अलग रिएक्शन दे रहे थे. लेकिन दादी के चेहरे पर कोई भाव नहीं था.'

अब जब दादी ने कोई रिएक्शन नहीं दिया तो कियारा ने अपनी मां को मैसेज किया. कियारा ने उनसे पूछा कि क्या करें? इस पर मां ने जवाब दिया कि 'तुम दादी को ये सीन समझा दो.' इसके बाद कियारा दादी को सीन समझाने लगीं. उन्होंने कहा, 'मैंने दादी से पूछा 'आप समझीं कि क्या हुआ है?' इसके अलावा उन्हें 'कभी खुशी कभी गम' गाने का बजना भी समझ नहीं आया था. फिर मैंने कहा 'उस सीन में वह लड़की पूरे परिवार के सामने ऑर्गेज्म महसूस कर रही होती है'. इस पर दादी ने कहा, 'पहले परिवार के सामने अब पूरी दुनिया के सामने' दादी का ये जवाब सुन मैं हैरान रह गई.'

कियारा की ये शॉर्ट फिल्म 'लस्ट स्टोरीज़' का हिस्सा थी. करन जौहर के डायरेक्शन में बनी इस में कियारा एक स्कूल टीचर के रोल में थीं जिनका पति उन्हें सेक्शुअली सैटिसफाई करने में असफल था.