इण्डिया मोबाइल कांग्रेस का तीसरा अक्टूबर में

इण्डिया मोबाइल कांग्रेस का तीसरा अक्टूबर में

40 से अधिक देश, 5000 से अधिक सीएक्सओ स्तर के प्रतिनिधि लेंगे हिस्सा

नई दिल्ली: भारत सरकार में संचार, इलेक्ट्राॅनिक्स एवं सूचना प्रोद्यौगिकी तथा कानून एवं न्याय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने आज इण्डिया मोबाइल कंाग्रेस 2019 (आईएमसी 2019) के तीसरे संस्करण का ऐलान किया, जिसका आयोजन नई दिल्ली के एरोसिटी में 14-16 अक्टूबर 2019 को किया जाएगा।

इस अवसर पर रवि शंकर प्रसाद ने कहा, ‘‘इण्डिया मोबाइल कंाग्रेस एक सालाना कार्यक्रम है जिसमें भारत की शीर्ष पायदान की दूरसंचार एवं डिजिटल प्रोद्यौगिकी कंपनियां हिस्सा लेती हैं। मैं उद्योग जगत के दिग्गजों, ब्राण्ड्स, इनोवेटर्स, अकादमिक प्रतिनिधियों एवं नीति निर्माताओं से आग्रह करता हूँ कि आईएमसी में हिस्सा लेकर इसे एशिया का सबसे बड़ा टेक्नोलाॅजी शो बनाने में योगदान दें।’’

श्री अरुणा सुंदरराजन, चेयरपर्सन, डीसीसी एवं सचिव (टी), दूरसंचार विभाग, संचार मंत्रालय, भारत सरकार और श्री अंशु प्रकाश, अपर सचिव (टी), दूरंसचार विभाग, संचार मंत्रालय, भारत सरकार ने माननीय अतिथियों के रूप में कार्यक्रम की शोभा बढ़ाई।

इस साल प्रतिष्ठित कार्यक्रम का आयोजन दूरसंचार विभाग एवं सीओएआई द्वारा संयुक्त रूप से किया जाएगा, जिसमें 40 से अधिक देश, 300 से अधिक प्रदर्शक और 250 से अधिक प्रवक्ता हिस्सा लेंगे।

एशिया का सबसे बड़ा टेक इवेन्ट होने के नाते आईएमसी 2019 विश्वस्तरीय एवं भारतीय दूरसंचार, मोबाइल, इंटरनेट कनेक्टिविटी एवं डिजिटल सेवा क्षेत्र के महत्व पर चर्चा, अनावरण, शिक्षण एवं प्रदर्शन के लिए महत्वपूर्ण मंच प्रदान करेगा।

भारत की सबसे बड़ी टेक्नोलाॅजी प्रदर्शनी के तीसरे संस्करण के दौरान डिजिटल टेक्नोलाॅजी पर अन्तर्राष्ट्रीय सम्मेलन, पुरस्कार समारोह तथा बी2बी/ बी2सी नेटवर्किंग बैठकों का आयोजन किया जाएगा। कर्टेन रेज़र के इस अवसर पर अग्नि एवं इन्वेस्ट इण्डिया के सहयोग से आईएमसी ग्राण्ड इनोवेशन चैलेंज की घोषणा भी की गई, जिसके तहत दूरसंचार एवं उभरती तकनीकों के क्षेत्र में अनुसंधान में इनोवेशन्स एवं योगदान को पहचान कर उसे सम्मानित किया जाएगा।

श्री राजन मैथ्यूज़, महानिदेशक, सीओएआई ने कहा, ‘‘हम रवि शंकर प्रसाद के प्रति आभारी हैं जिन्होंने इस विशाल कार्यक्रम को अपना पूरा समर्थन एवं मार्गदर्शन प्रदान किया है। हम इस दिशा में किए गए प्रयासों तथा सम्पूर्ण उद्योग के लिए अनुकूल वातावरण उपलब्ध कराने के लिए भारत सरकार के प्रति भी आभारी हैं। सरकार से मिले सहयोग की वजह से ही इण्डिया मोबाइल कंाग्रेस ने अपने आप को दक्षिणी एशिया के सबसे बड़े टेक्नोलाॅजी कार्यक्रम के रूप में स्थापित कर लिया है, आज यह डिजिटल टेक्नोलाॅजी स्पेस में भारत का सबसे बड़ा नेटवर्किंग कार्यक्रम बन गया है।

कार्यक्रम में केन्द्र एवं विभिन्न राज्यों से वरिष्ठ सरकारी प्रतिनिधि हिस्सा लेंगे। इस साल कार्यक्रम में 5000 से अधिक सीएक्सओ स्तर के प्रतिनिधि और 75000 से अधिक आगंतुकों के आने की उम्मीद है। इस प्रकार यह विशाल सार्वजनिक-निजी भागीदारी डिजिटल रूप से भारत को सशक्त बनाने के माननीय प्रधानमंत्री जी के दृष्टिकोण को साकार करने में योगदान देगी।