मिर्जापुर में सोनभद्र नरसंहार के पीड़ित परिवारों से मिलीं प्रियंका, छलके आंसू

मिर्जापुर में सोनभद्र नरसंहार के पीड़ित परिवारों से मिलीं प्रियंका, छलके आंसू

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में 10 लोगों की हत्या का मामला शांत होता नहीं दिख रहा. इस घटना के पीड़ितों से मिलने को लेकर अड़ी कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी को प्रशासन ने सोनभद्र जाने की इजाजत नहीं दी. इस बीच पीड़ित परिवारों के लोग मिर्जापुर स्थित चुनार गेस्ट हाउस आकर कांग्रेस महासचिव से मिले. पीड़ित महिलाओं से मिलकर प्रियंका गांधी काफी भावुक हो गईं. उन्होंने महिलाओं के गले मिलकर ढांढस बंधाया. इस दौरान प्रियंका की आंखों से आंसू छलक आए.

इससे पहले प्रियंका गाधी ने साफ किया था कि जब तक वह पीड़ित परिवारों से मिल नहीं लेतीं, तब तक वापस नहीं जाएंगी. प्रियंका गांधी ने कहा, ' मैं कानून का उल्लंघन नहीं करना चाहती. मैंने प्रशासन को कहा है कि अगर सोनभद्र में धारा 144 लागू है तो वो किसी और जगह मुझे मिलवा सकते हैं. प्रियंका गांधी ने कहा कि वो पीड़ित परिवारों से मिर्जापुर या वाराणसी में भी मिल सकती हैं. उन्होंने कहा, 'एक बार पीड़ितों से मिल लूं फिर चली जाऊंगी, लेकिन उनसे मिले बिना कहीं नहीं जाऊंगी.'

मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस में रुकी प्रियंका गांधी से मिलने के लिए पीड़ित परिवार के लोग वहां पहुंचे थे. हालांकि प्रियंका के मुताबिक, प्रशासन ने उन लोगों को उनसे मिलने नहीं दिया और गेस्ट हाउस के गेट पर ही रोक दिया. प्रियंका ने यह आरोप लगाया कि उन्होंने जब पता चला कि वे लोग गेस्ट आए हैं तो उनसे मिलने गेट तक जा रही थीं, लेकिन प्रशासन ने उन्हें गेट पर जाने तक की इजाजत नहीं दी.

Uttar Pradesh, India