आसमान पर राजनैतिक संदेशों के बाद  'नो फ्लाइंग जोन' घोषित होंगे मैनचेस्टर और बर्मिघम

आसमान पर राजनैतिक संदेशों के बाद 'नो फ्लाइंग जोन' घोषित होंगे मैनचेस्टर और बर्मिघम

लीड्स: आईसीसी विश्व कप-2019 में हेडिंग्ले स्टेडियम में भारत और श्रीलंका के बीच मैच खेला जा रहा था. इस मैच के दौरान स्टेडियम के ऊपर से तीन हवाईजाहज एक के बाद एक निकले जिन पर राजनैतिक संदेश लिखे हुए थे. पहले हवाईजहाज निकला, जिसके सहारे एक बैनर लटका हुआ था और उस बैनर पर लिखा था- 'कश्मीर के लिए न्याय'.

इसी के बाद एक और हवाईजाहज निकला जिसपर एक और बैनर लगा हुआ था और उस पर लिखा था- 'भारत नरसंहार बंद करो और कश्मीर को आजाद करो'. इन दोनों विमानों के बाद एक और विमान स्टेडियम के ऊपर से गुजरा जिसके बैनर पर लिखा था कि भारत में मॉब लिंचिंग बंद की जाए.

इसे लेकर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद नाराज दिखी और उसने मैनचेस्टर तथा बर्मिघम की पुलिस से बात की. पुलिस ने आईसीसी को भारोसा दिलाया है कि वह इन दो शहरों के स्टेडियम के आस-पास के इलाके को नो फ्लाइंग जोन घोषित करेगी.

इस मसले पर अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने एक बयान जारी कर कहा है, "यह एक बार दोबारा हुआ इस पर हमें खेद है. हम आईसीसी विश्व कप में किसी तरह के राजनीतिक संदेश की अनदेखी नहीं कर सकते. पूरे टूर्नामेंट के दौरान हमने स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर काम किया है ताकि इस तरह के विरोध को रोका जाए. पहले हुए वाकये के बाद वेस्ट यार्कशायर पुलिस ने हमें आश्वस्त किया था कि इस तरह की चीजें दोबारा नहीं होंगी. इसलिए ऐसा दोबारा हुआ इससे हम निराश हैं.

इसी तरह 29 जून को इसी स्टेडियम में पाकिस्तान और अफगानिस्तान के बीच मैच खेला गया था. इसी मैच में भी स्टेडियम के ऊपर से एक हवाईजहाज निकाला था, जिस पर बलूचिस्तान के लिए न्याय के नारे का बैनर लटका हुआ था. भारत और श्रीलंका के बीच में कश्मीर के लिए न्याय का बैनर लटका हुआ था.

29 जून के मामले पर आईसीसी ने कहा था, "हम आईसीसी विश्व कप में किसी तरह के राजनीतिक संदेश की अनदेखी नहीं कर सकते और हम वेस्ट यॉर्कशायर पुलिस के साथ मिलकर इस मामले को देख रहे हैं और समझने की कोशिश कर रहे हैं कि इस तरह की चीजें क्यों हो रही हैं. हम कोशिश करेंगे की दोबारा ऐसा न हो."