पांच ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी पाने की दिशा हमने दिखाई है:PM मोदी

पांच ट्रिलियन डॉलर इकोनॉमी पाने की दिशा हमने दिखाई है:PM मोदी

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रव्यापी सदस्यता अभियान का आगाज किया. उन्होंने टोल फ्री नम्बर से शुरू इस सदस्यता अभियान के दौरान पांच सदस्यों को प्रमाण पत्र भी सौंपा. इस मौके पर उन्होंने कहा कि पांच ट्रिलियन इकॉनमी को देश कैसे पा सकता है, इसकी दिशा हमने तय कर दी है. पीएम मोदी ने कहा, "हमारी सरकार का कल बजट जारी किया गया. बजट के बाद सभी को हमारी मंशा स्पष्ट हो गई होगी. हमारा देश तो पहले भी चला और आगे भी बढ़ा, लेकिन अब न्यू इंडिया दौड़ने को बेताब है. इसी को लेकर हमारी तैयारी है. पांच ट्रिलियन इकॉनमी को देश कैसे पा सकता है इसकी दिशा हमने दिखाई है."

उन्होंने कहा, "आखिर फाइव ट्रिलियन डॉलर इकॉनमी के लक्ष्य का मतलब क्या है, एक आम भारतीय की जिंदगी का इससे क्या लेना-देना है. यह आपके लिए, सबके लिए जानना बहुत जरूरी है. अंग्रेजी में एक कहावत होती है कि 'साइज ऑफ केक मैटर्स' यानि जितना बड़ा केक होगा उसका उतना ही बड़ा हिस्सा लोगों को मिलेगा. इसी कारण हमने भारत की अर्थव्यवस्था को फाइव ट्रिलियन डालर की अर्थव्यवस्था बनाने पर जोर दिया है." मोदी ने कहा कि हम 21वीं सदी की आवश्यकताओं के अनुसार पूरे देश में इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण कर रहे हैं. गांव में उपज के भंडारण के लिए इंफ्रास्ट्रक्चर, शहरों में आधुनिक सुविधाओं का निर्माण, हर स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा, "हाईवेज, रेलवेज, एयरवेज, वॉटरवेज, डिजिटल इंफ्रास्ट्रक्चर, गांव में ब्रॉड बैंड की सुविधा इन सभी में आने वाले 5 वर्षो में 100 लाख करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा. आने वाले कुछ वर्षो में गांवों में सवा लाख किलोमीटर सड़कों का निर्माण किया जाएगा." उन्होंने कहा, "पांच ट्रिलियन डॉलर के सफर को आसान बनाने के लिए हम स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत, सुंदर भारत बनाने पर भी फोकस कर रहे हैं. बीते वर्षो में स्वच्छता के लिए देश के हर नागरिक ने जो योगदान दिया है, उससे स्वस्थ भारत बनाने की हमारी कोशिश को बल मिला है."

उन्होंने कहा कि स्वस्थ भारत के लिए आयुष्मान भारत योजना भी बहुत सहायक सिद्घ हो रही है. देश के करीब 50 करोड़ गरीबों के लिए हर वर्ष पांच लाख रुपए तक मुफ्त इलाज सुनिश्चित हो रहा है. अब तक लगभग 32 लाख गरीब मरीजों को इसका लाभ मिल चुका है. उन्होंने कहा, "खेती के साथ-साथ ब्लू इकॉनमी पर भी हम विशेष बल दे रहे हैं. समुद्री संसाधनों और तटीय क्षेत्रों में पानी के भीतर जितने भी संसाधन है, उनके विकास के लिए बजट में विस्तार से बात की गई है. अब हम किसान को पोषक से आगे निर्यातक के रूप में देख रहे हैं. अन्न, दूध, फल-सब्जी, शहद या फिर ऑर्गेनिक उत्पाद इन सबके निर्यात के लिए हमारे पास भरपूर क्षमता है. इसलिए बजट में कृषि उत्पादों के निर्यात के लिए माहौल बनाने पर विशेष बल दिया गया है."

प्रधानमंत्री मोदी इस मौके पर कहा, "आज मुझे काशी से भाजपा सदस्यता अभियान को आरंभ करने का अवसर मिला. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्मदिन के अवसर पर इस कार्यक्रम का आरंभ होना सोने पर सुहागा है. उनके सपनों को हम पूरा कर सकें, इस आशा के साथ हम उन्हें नमन करते हैं. सदस्यता अभियान का यह कार्यक्रम हमारे काशी में हो रहा है. एक सफल सदस्यता अभियान के लिए काशी के लोगों को शुभकामनाएं. शास्त्री जी की मूर्ति का अनावरण फिर पौधारोपण का अभियान भी आज आरंभ हुआ. मैं भी उसका हिस्सा बना हूं."

India