मिकी आर्थर बोले, बदला जाय NRR का नियम

मिकी आर्थर बोले, बदला जाय NRR का नियम

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट टीम बांग्लादेश को हराकर भी सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सका। पाकिस्तान के 9 मैचों में 11 अंक हुए जबकि इंग्लैंड के भी, लेकिन बेहतर नेट रन रेट के आधार पर इंग्लैंड सेमीफाइनल में पहुंच गया जबकि पाकिस्तान बाहर हो गया। सेमीफाइनल से बाहर होने के बाद पाकिस्तान के कोच मिकी आर्थर ने आईसीसी से नेट रन रेट के नियम बदलने की अपील की। कोच का कहना है कि नेट रन रेट से पहले दोनों टीमों के बीच खेले गए मुकाबले को प्राथमिकता देनी चाहिए। इस नियम पर पुर्नविचार जरूरी है, क्योंकि इसी कारण हम सेमीफाइनल से बाहर हुए हैं।

आर्थर ने कहा, "मैं चाहूंगा कि आईसीसी हेड टू हेड (दो देशों के बीच खेले गए मुकाबले) पर विचार करे क्योंकि आज रात हम सेमीफाइनल में होते। यह निराशाजनक है क्योंकि यह हमारे केवल पहले मैच के कारण हुआ है, जिसमें हमें वेस्टइंडीज के खिलाफ हार मिली। हमारे पास आस्ट्रेलिया को हराने का मौका था, लेकिन ऐसा हो न सका।" उन्होंने आगे कहा कि सिस्टम ने हमारे साथ जो किया सो किया। लेकिन एक खराब मैच के बाद हम वापसी करने के लिए संघर्ष करते हैं। इसलिए यह बहुत निराशाजनक वाला ड्रेसिंग रूम है। ड्रेसिंग रूम में कोई बधाई नहीं क्योंकि हम उस योग्य नहीं हैं। चार टीमों को बधाई। मुझे लगता है कि उन्होंने अब तक अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेला और उनमें से सर्वश्रेष्ठ टीम जीत सकती हैं। "

आर्थर ने यह भी स्वीकार किया कि टीम ने पहले बल्लेबाजी करने पर 400 से अधिक की कुल पोस्टिंग पर चर्चा की थी। मिकी आर्थर ने कहा, "मैं झूठ बोलूंगा अगर मैंने कहा कि यह चर्चा नहीं की गई थी। लेकिन मुझे लगता है कि हम कुछ ऐसा कर सकते थे, जिसका हम केवल आकलन कर सकते थे। हमने टॉस जीता जो कि अच्छी शुरुआत थी, 400 रन बनाना एक टारगेट था। आउट होकर पवेलियन लौटने पर फखर ने हमें बताया कि पिच धीमी है और स्कोर करना मुश्किल होगा।"