विश्व कप: श्रीलंका को पस्त कर विराट सेना टॉप पर,  रोहित-राहुल के सैकड़े

विश्व कप: श्रीलंका को पस्त कर विराट सेना टॉप पर, रोहित-राहुल के सैकड़े

लीड्स: रोहित शर्मा (103) और लोकेश राहुल (111) की शानदार पारियों के दम पर भारत ने आईसीसी विश्व कप 2019 के अपने अंतिम लीग मैच में श्रीलंका को 7 विकेट से करारी शिकस्त दी। भारतीय टीम इस जीत के साथ अंकतालिका में शीर्ष पर पहुंच गई है। उसके 9 मैचों में 15 अंक हो गए हैं। हालांकि, वह कब तक इस स्थान पर रहेगी यह ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के मैच के परिणाम के बाद ही पता चल पााएगा। ऑस्ट्रेलिया के अभी 14 अंक हैं। अगर ऑस्ट्रेलिया दक्षिण अफ्रीका को हरा देगा तो उसके 16 अंक हो जाएंगे जिससे वह टॉप पर काबिज हो जाएघा। लेकिन अगर ऑस्ट्रेलिया हार जाता है तो वह दूसरे स्थान पर आ जाएगा।

लीड्स के हेडिंग्ले स्टेडियम में खेले इस मैच में भारत ने पहले शानदार गेंदबाजी की और फिर बेहतरीन बल्लेबाजी की। श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए जीत के लिए 265 रन की चुनौती पेश की थी। जवाब में भारत ने तीन विकेट के नुकसान पर 43.3 ओवर में इस लक्ष्य को आसानी से हासिल कर लिया। भारत की शुरुआत शानदार रही। पारी का आगाज करने आए रोहित और राहुल ने पहले विकेट के लिए 189 रन की साझेदारी की।भारत को पहला झटका रोहित के रूप में 31वें ओवर में लगा। उन्हें कसुन रजिथा ने पवेलियन की राह दिखाई। उन्होंने 94 गेंदों की अपनी पारी में 14 चौके और 2 छक्के जमाए।

रोहित का इस विश्व कप में पांचवां शतक है। इसी के साथ वह एक विश्व कप में सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए हैं। रोहित के इस दौरान विश्व कप में 600 रन पूरे हो गए। एक विश्व कप संस्करण में 600 रन पूरे करने वाले वह दूसरे भारतीय बल्लेबाज और विश्व में चौथे नंबर पर हैं। उनसे पहले यह उपलब्धि भारत के पूर्व महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने 2003 विश्व कप में अपने नाम की थी। रोहित के आउट होने के बाद राहुल ने कप्तान विराट कोहली (नाबाद 34) के साथ पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 55 रन की साझेदारी कर टीम को जीत करीब पहुंचाया।

हालांकि, राहुल के 41वें ओवर में आउट होने से यह साझेदारी टूट गई। उन्हें लसिथ मलिंग ने अपना शिकार बनाया। राहुल ने 118 गेंदों की अपनी पारी में 11 चौके और एक छक्का जड़ा। इसके बाद क्रीज पर आए युवा बल्लेबाज रिषभ पंत (4) सस्ते में अपना विकेट गंवा बैठे। उन्हें इसरु उदाना ने 42वें ओवर में पवेलियन की राह दिखाई। यहां से कोहली और हार्दिक पांड्या (नाबाद 7) टीम को जिताकर पवेलियन लौटे। कोहली ने 41 गेंदों की पारी में 3 चौके लगाए। वहीं, पांड्या ने 4 गेंदें खेली और एक चौका मारा।

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका ने निर्धारित 50 ओवर में 7 विकेट गंवाकर 264 रन बनाए। श्रीलंका की तरफ से एंजेलो मैथ्यूज (113) ने सर्वाधिक रन बनाए। उन्होंने 128 गेंदों की अपनी पारी में 10 चौके और 2 छक्के लगाए। श्रीलंकाई टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। पारी का आगाज करने आए कप्तान दिमुथ करुणारत्ने (10) चौथे ओवर में पवेलियन लौट गए। उन्हें जसप्रीत बुमराह ने महेंद्र सिंह धोनी के हाथों लपकवाया। इसके बाद बुमराह ने आठवें ओवर में दूसरे सलामी बल्लेबाज कुसल परेरा (18) को अपना शिकार बनाया। परेरा भी धोनी के हाथों लपके गए। श्रीलंका को तीसरा झटका कुसल मेंडिस (3) के तौर पर लगा। उन्हें रवींद्र जडेजा ने 11वें ओवर में स्टंप आउट करवाया।श्रीलंका को अविष्का फर्नांडो​ (20) से काफी उम्मीदें थीं लेकिन वह आशानुरूप प्रदर्शन करने में सफल नहीं रहे। पिछले मैच में वेस्टइंडीज के खिलाफ शतकीय पारी खेलने वाले फर्नांडो 12वें ओवर में अपना विकेट गंवा बैठे। उन्होंने हार्दिक पांड्या की गेंद पर धोनी को कैच थमा दिया।

श्रीलंका की खस्ता हालात का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि उसके चार महज 55 रन के कुल स्कोर पर गिर गए। हालांकि, टीम ने हैसला ने छोड़ा। यहां से मैथ्यूज और लहिरु थिरिमाने (53) ने मोर्चा संभाला और टीम को लड़खड़ाने से बचा लिया। दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 124 रन की अहम साझेदारी की। इस साझेदारी को कुलदीप यादव ने 38वें ओवर में थिरिमाने को आउट कर तोड़ा। थिरिमाने बड़ा शॉट मारना चाहते थे लेकिन जडेजा को कैच थमा बैठे। उनका विकेट 179 रन कुल स्कोर पर गिरा। थिरिमाने के पवेलियन लौटने पर मैथ्यूज ने धनंजय डी सिल्वा​ (नाबाद 29) के साथ श्रीलंकाई पारी को आगे बढ़ाया। दोनों ने छठे विकेट के लिए 74 रन की पार्टनरशिप की।

इस साझेदारी की बदौलत श्रीलंका की टीम 250 का आंकड़ा पार करने में कामयाब रही। मैथ्यूज ने इस दौरान 115 गेंदों में अपने वनडे करियर का तीसरा शतक पूरा किया। हालांकि, शतक जड़ने के बाद वह ज्यादा देर नहीं टिक सके और 49वें ओवर में बुमराह का शिकार बन गए। वह बुमराह की गेंद पर गलत शॉट खेल बैठे और रोहित शर्मा के हाथों लपके गए। वह छठे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए। उनका विकेट 253 रन के कुल स्कोर पर गिरा। दिलचस्प बात यह है कि उन्होंने वनडे में तीनों ही शतक भारत के खिलाफ जड़े हैं।

इसके बाद श्रीलंका का सातवां और आखिरी विकेट थिसारा परेरा (2) के रूप में 50वें ओवर में गिरा। उन्हें भुवनेश्वर कुमार ने हार्दिक पांड्या के हाथों लपकवाया। वहीं, इसुरु उदाना 1 रन बनाकर नाबाद रहे। भारत के लिए जसप्रीत बुमराह ने तीन, हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव और भुवनेश्वर कुमार ने एक-एक विकेट हासिल किया।