'92 के बाद सेमीफाइनल में इंग्लैंड, न्यूजीलैंड का भी अंतिम चार में पहुंचना लगभग पक्का

'92 के बाद सेमीफाइनल में इंग्लैंड, न्यूजीलैंड का भी अंतिम चार में पहुंचना लगभग पक्का

चेस्टर ली स्ट्रीट: मेजबान इंग्लैंड ने आईसीसी विश्व कप 2019 के अहम मुकाबले में न्यूजीलैंड को 119 रन से हराकर सेमीफाइनल में जगह बना ली है। इंग्लैंड ने 27 साल बाद सेमीफाइनल में प्रवेश किया है। इससे पहले इंग्लैंड की टीम ने 1992 में अंतिम चार में कदम रखा था। ऑस्ट्रेलिया और भारत के बाद इंग्लैंड सेमीफाइनल में पहुंचने वाली तीसरी टीम है।चेस्टर ली स्ट्रीट के रिवरसाइड स्टेडियम में खेले गए इस मैच में इंग्लैंड ने 305 रन की चुनौती पेश की। जवाब में न्यूजीलैंड की टीम 45 ओवर में 186 रन बनाकर ऑलआउट हो गई। न्यूजीलैंड के लिए टॉम लेथम (57) ने सबसे ज्यादा रन बनाए। उन्होंने 65 गेंदों की अपनी पारी में 5 चौके लगाए। इंग्लैंड के लिए मार्क वुड ने तीन, क्रिसे वॉक्स, आदिश राशिद, बेन स्टोक्स, लियम प्लंकेट और जोफ्रा आर्चर ने एक-एक विकेट चटकाया। वहीं, न्यूजीलैंड के दो बल्लेबाज रन आउट होकर पवेलियन लौटे।

इस हार के साथ न्यूजीलैंड की राह थोड़ी मुश्किल हो गई है। क्योंकि उसके हारने से पाकिस्तान की सेमीफाइनल में पहुंचने की संभावनाएं अभी भी जिंदा हैं। पाकिस्तान की टीम अगर बांग्लादेश के खिलाफ करिश्माई प्रदर्शन कर बड़ी जीत दर्ज करने में कामयाब होती है तो ही वह अंतिमचार में पहुंच सकती है। पाकिस्तान न्यूजीलैंड से नेट रन रेट में काफी पीछे हैं जिससे कीवी टीम का सेमीफाइनल की दौड़ से बाहर होना आसान नहीं होगा। इंग्लैंड की टीम नौ मैचों में 12 अंकों के साथ अंकतालिका में तीसरे नबंर पर है। इसके अलावा न्यूजीलैंड की टीम इतने ही मैचों में 11 अंकों के साथ चौथे स्थान पर है।

इसस पहले इंग्लैंड ने टॉ़स जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 50 ओवर में 8 विकेट गंवाकर 305 रन का स्कोर खड़ा किया। मेजबान टीम की तरफ से सर्वाधिक रन सलामी बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो (106) ने बनाए। उनका अलावा जेसन रॉय (60), इयोन मॉर्गन (42), जो रूट (24), जोस बटलर (11), बेन स्टोक्स (11), आदिश राशिद (16) और क्रिस वॉक्स ने 4 रन का योगदान दिया। वहीं, लियम प्लंकेट 15 और जोफ्रा आर्चर 1 रन बनाकर नाबाद रहे। न्यूजीलैंड की ओर से ट्रेंट बोल्ट, जेम्स नीशम, और मैट हेनरी ने दो-दो जबकि मिशेल सैंटर और टिम साउदी ने एक-एक विकेट हासिल किया। इंग्लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इंग्लैंड ने अपनी टीम में कोई बदलाव नहीं किया। वहीं, न्यूजीलैंड ने अपनी टीम में दो बदलाव किए। न्यूजीलैंड ने चोटिल तेज गेंदबाज लॉकी फॉग्र्यूसन और स्पिनर ईश सोढी की जगह अंतिम एकादश में टिम साउदी और मैट हेनरी को शामिल किया।

टॉस जीतकर पहले करने उतरी इंग्लैंड की टीम ने मजबूत शुरुआत की। पारी का आगाज करने आए जेसन रॉय और जॉनी बेयरस्टो टीम पहले विकेट के लिए 123 रन जोड़े। भारत के खिलाफ पिछले मैच में शानदार शुरुआत करने वाले रॉय और बेयरस्टो से टीम को एक बार फिर ऐसी ही उम्मीद थी जिसपर दोनों खरे उतरे। दोनों ने शुरू से ही खुलकर बल्लेबाजी की और न्यूजीलैंड के गेंदबाजों को हावी होने का कोई मौका नहीं दिया। इस साझेदारी को जेम्स नीशम ने 5वें ओवर की दूसरी गेंद पर तोड़ा। उन्होंने रॉय को अपना शिकार बनाया। वह नीशम के गेंद पर मिशेल सैंटनर के हाथों लपके गए।

इंग्लैंड को बीते मैचों में जेसन रॉय की कमी जरूर खली थी जो चोट के कारण बाहर हो गए थे। मगर रॉय ने भारत के खिलाफ शानदार वापसी करने और न्यूजीलैंड के खिलाफ भी उनका बल्ला जमकर चला। उन्होंने 61 गेंदों में 60 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 8 चौके लगाए। यह उनका वनडे करियर का 17वां अर्धशतक है। रॉय ने मौजूदा टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शऩ किया है। वह अब तक छह मैचों की पांच पारियों में एक शतक और तीन अर्धशतक जड़ चुके हैं।

इंग्लैंड को दूसरा झटका जो रूट के रूप में लगा। जेसन रॉय के आउट होने के बाद क्रीज पर आए रूट ने संभलकर बल्लेबाजी की। हालांकि, वह बड़ी पारी खेलने से चूक गए। उन्होंने 25 गेंदों में 1 चौके की मदद से 24 रन बनाए। उन्हें 31वें ओवर की पहली गेंद पर ट्रेंट बोल्ट ने पवेलियन की राह दिखाई। वह बोल्ट की गेंद पर शॉट मारने की फिराक में थे लेकिन गेंद बल्ले का किनारा लेकर विकेटकीपर टॉम लाथम के हाथों में चली गई। रूट ने रिव्यू लेना का फैसला किया जिसका कोई फायदा नहीं हुआ। उनका विकेट 194 के कुल स्कोर पर गिरा। उन्होंने जॉनी बेयरस्टो के साथ दूसरे विकेट के लिए 71 रन की साझेदारी की। रूट का इस विश्व कप में बल्ला जमकर चला है। वह सिर्फ तीन मैचों में ही जल्दी आउट हुए हैं। इसके अलावा इस मैच को को छोड़कर उन्होंने 51, 107, 100*, 88, 57 और 44 रन की पारी खेली है।

इंग्लैंड के सलामी बल्लेबाज जॉनी बेयरस्टो शानदार फॉर्म में है। पिछले मैच में भारत के खिलाफ शतक जड़ने वाले बेयरस्टो ने लगातार दूसरी शतकीय पारी खेली। उन्होंने 99 गेंदों में 106 रन बनाए। उन्होंने अपनी पारी में 15 चौके और 1 छक्का जमाया। उनके वनडे क्रिकेट करियर का यह 9वां शतक है। बेयरस्टो ने 95 गेंदों में अपना शतक पूरा किया। हालांकि, वह शतक जड़ने के बाद ज्यादा देर क्रीज पर नहीं टिक सके और मैट हेनरी का शिकार बन गए। उन्हें हेनरी ने 32वें ओवर की चौथी गेंद पर पवेलियन की राह दिखाई। वह हेनरी की गेंद को पिच पर पड़ने के बाद भांप नहीं पाए और बोल्ड हो गए। उनका विकेट 206 के कुल स्कोर पर गिरा।

ताबड़तोड़ बल्लेबाजी के लिए मशहूर जोस बटलर और बेन स्टोक्स सस्ते में अपना विकेट गंवा बैठ। दोनों ने 11-11 रन बनाए। बटलर को 35वें ओवर की दूसरी गेंद पर बोल्ट ने आउट किया। वह उठाकर खेलने के प्रयास में केन विलियम्सन के हाथों कैच हो गए। वहीं, स्टोक्स को मिशेल सैंटनर ने 42वें ओवर की आखिरी गेंद पर अपना शिकार बनाया। स्टोक्स छक्का मारना चाहते लेकिन लॉन्ग ऑन पर मैट हेनरी को कैच थमा बैठे। बटलर पिछले मैच में भी जल्द पवेलियन लौट गए थे। उन्होंने भारत के खिलाफ महज 20 रन बनाए। जबकि स्टोक्स ने भारत के खिलाफ तेजतर्रार 79 रन की पारी खेली थी। उन्होंने 54 गेंदों की ताबड़तोड़ पारी में छह चौके और तीन छक्के जड़कर इंग्लैंड को बड़े स्कोर तक पहुंचाने में अहम भुमिका निभाई थी। इसके बाद कप्तान इयोन मॉर्गन (42) अकेले संघर्ष करते रहे मगर दूसरे छोर से उन्हें साथ नहीं मिला। क्रिस वॉक्स भी चार रन बनाकर आउट हो गए। मॉर्गन को हेनरी ने 47वें ओवर की पहली गेंद पर पवेलियन भेज दिया। मॉर्गन ने 40 गेंदों की अपनी पारी में 5 चौके मारे। आखिर में आदिल राशिद ने 16 रन बनाए।