भारत में हैण्डबॉल के विकास के लिए सुविधाओं में बढ़ोत्तरी करेगा आईएचएफः आनन्देश्वर पाण्डेय

भारत में हैण्डबॉल के विकास के लिए सुविधाओं में बढ़ोत्तरी करेगा आईएचएफः आनन्देश्वर पाण्डेय

स्वीडन में हो रही आईएचएफ की विशेष कांग्रेस और 38वीं सामान्य सभा की बैठक

लखनऊ। गोथेनबर्ग (स्वीडन) में आयोजित इंटरनेशनल हैण्डबॉल फेडरेशन (आईएचएफ) की विशेष कांग्रेस और 38वीं सामान्य सभा की बैठक में भारत में हैण्डबॉल की प्रगति पर खुशी जताई गई। यह जानकारी इस बैठक में हिस्सा ले रहे हैण्डबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के महासचिव श्री आनन्देश्वर पाण्डेय ने देते हुए बताया कि देश में हैण्डबॉल में विकास की बेहतरीन संभावनाएं देखते हुए आईएचएफ ने हैण्डबॉल खेल के विकास के लिए पहले के मुकाबले ज्यादा सुविधाएं देने का फैसला लिया गया है।

बैठक में हिस्सा ले रहे हैण्डबॉल फेडरेशन ऑफ इंडिया के प्रतिनिधिमंडल में फेडरेशन के उपाध्यक्ष श्री जगन मोहन राव और श्री सैयद रफत (उपाध्यक्ष, यूपी हैण्डबॉल एसोसिएशन) भी शामिल है।

श्री आनन्देश्वर पाण्डेय ने बताया कि यूरोपीय देश में काफी लोकप्रिय खेल की भारत में विकास की संभावना को देखते हुए देश को इंटरनेशनल हैण्डबॉल फेडरेशन (आईएचएफ) ने पहले ही शीर्ष प्राथमिकता सूची में रखा है।

अंतरराष्ट्रीय हैंडबॉल महासंघ के अध्यक्ष डा.हसन मुस्तफा की अध्यक्षता में हो रही इस कांग्रेस में 150 देशों के हैंडबॉल महासंघ के पदाधिकारी हिस्सा ले रहे है। बैठक की शुरुआत में अध्यक्ष हसन मुस्तफा ने अपनी रिपोर्ट पेश की। इसी के साथ पेश की गई वित्तीय व अंकेक्षण रिपोर्ट पर सबने सहमति जताई। इसी के साथ इंटरनेशनल हैण्डबॉल में मैच के नियमों व अधिनियमों के संशोधन पर भी मंजूरी दी गई और आईएचएफ के कैलेंडर पर भी विचार-विमर्श किया गया।

श्री आनन्देश्वर पाण्डेय ने जानकारी दी कि इस बैठक में उन्होंने इस साल होने वाली प्रीमियर हैण्डबॉल लीग के बारे में भी प्रेजेंटेशन दिया और इंटरनेशनल हैण्डबॉल चैंपियनशिप की मेजबानी के लिए दावेदारी भी जताई है।