आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था: कमल हासन

आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था: कमल हासन

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 के सातवें चरण यानी आखिरी चरण का मतदान शेष है। राजनीतिक पार्टियां अंतिम चरण के चुनाव से पहले धुआंधार प्रचार और रैलियां कर रही है। इसी कड़ी में चुनाव प्रचार के दौरान कमल हासन ने विवादित बयान दिया है।उनके विवादित बयान को लेकर मामला तूल पकड़ने के पूरे आसार हैं।

दरअसल कमल हसन ने अरावाकुरुची विधानसभा क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान कहा कि,, ‘‘मैं ऐसा इसलिए नहीं बोल रहा हूं कि यह मुसलमान बहुल इलाका है, बल्कि मैं यह बात गांधी की प्रतिमा के सामने बोल रहा हूं। आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे है। वहीं से इसकी (आतंकवाद) शुरुआत हुई।

कमल हासन ने तमिल भाषा में यह बयान दिया है। हाल ही में राजनीति में कूदे कमल हासन इससे पहले भी दक्षिणपंथ और चरमपंथ पर पहले भी निशाना साध चुके हैं। उन्होंने पिछले साल ही मक्कल निधि मैय्यम पार्टी की स्थापना की थी।

हासन के इस बयान के बाद सियासी सरगर्मियां तेज हो गई हैं।भाजपा प्रदेश अध्यक्ष तमिलसई सौंदरराजन ने ट्वीट कर हासन पर पलटवार किया है। उनका कहना है कि अल्पसंख्यों के वोट जुटाने के लिए यह बात उठाकर हासन आग से खेल रहे हैं। उन्होंने श्रीलंका के बम ब्लास्ट पर कोई टिप्पणी नहीं की थी।

इससे पहले कमल हासन ने कहा था कि वह लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे। मक्कल नीधि मय्यम यानी एमएनएम का घोषणा पत्र और उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी करते हुए कमल हासन ने कई वादे किए हैं। वादों की फेहरिस्त में नौकरियों, महिलाओं के लिए समान वेतन और आरक्षण और किसानों के लिए 100 प्रतिशत लाभ जैसी बातें कही गई हैं। उनका कहना है कि वह 50 लाख नौकरियों का सृजन करेंगे। महिलाओं को 50 फीसदी आरक्षण देंगे। इसके अलावा उन्होंने महिलाओं और पुरूषों को बराबर वेतन देने की भी बात कही है। इसके अलावा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के राशन की होम डिलीवरी, मुफ्त वाईफाई, राजमार्गों पर कोई टोल न लगने जैसे कई वादे किए हैं।