पीएम मोदी की 'झूला कूटनीति' कारण मसूद अज़हर नहीं बन सका वैश्विक आतंकी: ओवैसी

पीएम मोदी की 'झूला कूटनीति' कारण मसूद अज़हर नहीं बन सका वैश्विक आतंकी: ओवैसी

नई दिल्ली: आंतकवादी संगठन जैश मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा वैश्विक आंतकियों की श्रेणी में ना शामिल किए जाने के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की असफलता करार दिया। ओवैसी ने इसे पीएम मोदी की 'झूला कूटनीति' का फेलियर बताया है।

ओवैसी ने कहा कि जहां एक तरफ चीन ने आंतकी मसूद अजहर को ब्लैक लिस्ट आंतकियों का श्रेणी में डालने में भारत की मदद नहीं की तो वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार ने 630 करोड़ के बुलेटप्रूफ जैकेट खरीदने का ऑर्डर चीन को दे दिया। ओवैसी ने कहा, 'चीन मसूद अजहर को वैश्विक आंतकयों की श्रेणी में शामिल किए जाने का विरोध संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में कर रहा है और हमारा देश उसको (चीन) 630 करोड़ के बुलेटप्रूफ वेस्ट खरीदने का ऑर्डर दे रहा हैं।'

एआईएमआईएम के चीफ ने कहा कि हम सिर्फ चीन से ही क्यों खरीद कर रहे हैं। क्या कोई और देश नहीं है जहां हम ऑर्डर दे सकते हैं? प्रधानमंत्री को इसका जवाब देश को देना चाहिए। यह पीएम मोदी की झूला कूटनीति की असफलता है। इसके साथ ही उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार मुद्रा योजना का सही डाटा देने के बजाए अपनी सारी असफलता छुपाने की कोशिश कर रही है। योजना के सही आंकड़े जनता के सामने आने चाहिए। यह सरकार झूठ पर विश्वास करती है। यह सरकार सच के साथ न कभी खड़ी होती है और ना ही चाहती है कि सही आकड़े सब सामने आए।

India