वेट लॉस से लेकर डायबिटीज तक में फायदेमंद कलौंजी

वेट लॉस से लेकर डायबिटीज तक में फायदेमंद कलौंजी

एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर कलौंजी वेट लॉस में दवा की तरह काम करती है। कलौंजी में औषधीय गुण होता है। वेट लॉस के अलावा बाल से लेकर डायबिटीज तक में ये काफी फायदेमंद है।

कलौंजी कोलेस्ट्राल को कम करती है। इसमें विटामिन, सुगंधित तेल और एन्जाइम्स जैसे गुण मौजूद हैं। ये तत्व मेटाबॉलिक रेट को बढ़ाते हैं और इससे वेट लॉस होने लगता है। कलौंजी बहुत सारे यौगिकों से बनी है। इसमें निगोलोन, एमिनो एसिड्स, सैपोनीन होता है।

कलौंजी में इसके अलावा क्रूड फाइबर, प्रोटीन, फैटी एसिड्स, एल्कालॉयड, आयरन, सोडियम, पोटैशियम और कैल्शियम भी होता है। इतने सारे यौगिक गुणों से भरी कलौंजी बीमारियों के इलाज के साथ वेट लॉस के लिए भी बहुत उपयोगी होती है।

इन्डोनेशिया जर्नल ऑफ इंटर्नल मेडिसिन ने अपने रिसर्च में भी ये सिद्ध किया है कि कलौंजी खाने वालों के पेट का फैट तेजी से कम होता है। कलौंजी केवल एक हफ़्ते में ही अपना असर दिखाने लगती है। वहीं, इसे खाने वालों का ब्लड प्रेशर भी कम होता पाया गया। आपको बता दें कि इसमें फाइबर की मात्रा ज़्यादा होती है और ये वेट लॉस का बड़ा कारण है।

कलौंजी के चार से पांच दानों को पीस लें। फिर उस पावडर को एक गिलास गर्म पानी में डालकर अच्छी तरह से मिला लें। इसमें एक छोटा चम्मच शहद और आधा नींबू का रस डालकर पी लें। नींबू वजन घटाने के साथ-साथ शरीर को डिटॉक्स भी करता है। बॉडी डिटॉक्स होने से कलौंजी तेजी से अपना असर दिखाता है। हालांकि, यहां पर याद रखें कि एक दिन में केवल चार से पांच दाने ही लें। इसे ज्यादा लेने से एसिडिटी लेवल बढ़ सकता है।