सपा-बसपा गठबंधन के एलान के बाद हरकत में आयी कांग्रेस

सपा-बसपा गठबंधन के एलान के बाद हरकत में आयी कांग्रेस

कल लखनऊ में नबी आज़ाद कर सकते हैं प्रदेश में चुनावी रणनीति का खुलासा

लखनऊ: सपा-बसपा के गठबंधन के औपचारिक ऐलान के बाद कांग्रेस पार्टी भी दिल्ली में यूपी के प्रभारी गुलाम नबी आज़ाद और यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर की अध्यक्षता में बैठक कर चुनाव में अकेले लड़ने की रणनीति बनाने में जुट गई. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़ फरवरी में यूपी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कुल 13 रैलियां होंगी. 6 लोकसभा सीटों का एक ज़ोन बनाया जाएगा और हर ज़ोन में राहुल गांधी की एक रैली होगी.कांग्रेस राहुल गांधी की रैलियों के जरिए शक्ति प्रदर्शन करेगी और अपने कार्यकर्ताओं में जोश भरने की कोशिश करेगी.

पहले चरण में राहुल गांधी पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हापुड़, मुरादाबाद, सहारनपुर में रैलियां करेंगे. यूपी के कांग्रेस नेताओं को रैली का खाका तैयार करने को कहा गया है. दो दिन से गुलाम नबी आज़ाद और राज बब्बर के नेतृत्व में दिल्ली में यूपी के नेताओं के साथ बैठक चल रही है, जिसमें पश्चिमी उत्तर प्रदेश के सभी ज़िलाध्यक्षों को भी बुलाया गया है. रविवार को लखनऊ में भी लोकसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस अपने पूर्वी उत्तर प्रदेश और अवध के ज़िलाध्यक्षों के साथ बैठक के बाद लखनऊ में ही एक प्रेस कांफ्रेंस कर आधिकारिक तौर पर कांग्रेस लोकसभा चुनाव को लेकर अपनी रणनीति का ऐलान करेगी. कांग्रेस सपा-बसपा के गठबंधन पर बहुत बच कर बयान दे रही है. यही वजह कि गुलाम नबी आज़ाद ने मीडिया को साफ़ तौर कहा कि कांग्रेस की आधिकारिक प्रतिक्रिया लखनऊ में रविवार को देगी, उससे पहले अगर कांग्रेस का कोई नेता मीडिया में बयानबाज़ी करेगा तो उसे कांग्रेस का आधिकारिक बयान नहीं माना जाएगा. वहीं किसान कांग्रेस भी फरवरी महीने में यूपी में किसान यात्रा निकालेगी.

Lucknow, Uttar Pradesh, India