सवर्ण आरक्षण बिल के लिए मोदी सरकार ने राज्यसभा का सत्र बढ़ाया

सवर्ण आरक्षण बिल के लिए मोदी सरकार ने राज्यसभा का सत्र बढ़ाया

नई दिल्ली: राज्यसभा का शीतकालीन सत्र एक दिन के लिए बढ़ा दिया है. दरअसल संसद का शीतकालीन सत्र मंगलवार तक ही है. ऐसे में सोमवार देर शाम राज्यसभा का सत्र बुधवार तक के लिए बढ़ाने का ऐलान किया गया. माना जा रहा है कि सरकार ने अपने महत्वाकांक्षी सवर्ण आरक्षण बिल को पास कराने के मकसद से यह कदम उठाया है.

वहीं इस बीच कांग्रेस और बीजेपी ने अपने सभी लोकसभा सांसदों को मंगलवार सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है. बीजेपी ने तीन लाइनों का व्हिप जारी करते हुए पार्टी के सभी लोकसभा सदस्यों को मंगलवार सदन में उपस्थित रहने के लिए कहा है.

गौरतलब है कि जल्द ही लोकसभा के चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में यह बीजेपी का आखिरी संसद सत्र है. राजनीतिक विशेषज्ञों की मानें तो बीजेपी मंगलवार को लोकसभा में सवर्ण आरक्षण बिल पेश कर सकती है. सरकार की पूरी कोशिश इस बिल को निचली सदन से मंगलवार के दिन ही पास कराकर बुधवार को राज्यसभा से इसे पास कराने की होगी, ताकि यह सवर्ण आरक्षण बिल को लोकसभा चुनाव से अमली जामा पहनाया जा सके.

बता दें कि नरेंद्र सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले बड़ा दांव चलते हुए सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए सरकारी नौकरी और शिक्षा में अलग से 10 फीसदी आरक्षण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है. केंद्रीय कैबिनेट की सोमवार को हुई बैठक में इस प्रस्ताव को पास किया गया. हालांकि भारतीय संविधान में आर्थिक आधार पर आरक्षण की कोई व्यवस्था नहीं है. ऐसे में सरकार के पास इस कदम मूव को अमलीजामा पहनाने के लिए संविधान संशोधन ही एकमात्र रास्ता है.

India